गिरफ्तार महिला खुद चिट्टे की नशेड़ी

नशे की तलब पूरी करने के लिए लगाती है इंजेक्शन, एक दिन के रिमांड पर भेजे आरोपी

गगरेट –गगरेट पुलिस द्वारा चिट्टे की खेप के साथ पकड़ी गई महिला खुद भी चिट्टा पीने की आदी है। यही नहीं वह नशे की तलब पूरी करने के लिए इंजेक्शन तक लगाती है। नशे से उसके जीवन में ऐसा घर किया कि उसका बसा बसाया घर भी उजड़ गया लेकिन चिट्टा शायद अब उसकी जान लेने को आतुर है कि चिट्टे को वह अपने जीवन से त्याग नहीं पाई है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार महिला की दो बेटियां भी हैं जो मां की गोद में दुलार पाने के लिए तरस रही हैं, लेकिन चिट्टे के आगोश में मदमस्त हुई महिला मां का धर्म भी सही ढंग से नहीं निभा पा रही है। आरोपी महिला की शादी उपमंडल गगरेट के एक गांव के युवक के साथ हुई थी और उसकी दो बेटियां भी हुई लेकिन गृहस्थ जीवन में ऐसी खटास आई कि शीघ्र ही उसका पति के साथ तलाक हो गया और अब वह अंब में किराए का घर लेकर रह रही है। जीवन में आए इस बड़े बदलाव का असर कहें या फिर नशे की आगोश में अपना सब कुछ तबाह कर लेने का मलाल न होना कि जीवन में आए इस बड़े बदलाव के बाद भी उस महिला ने अपनी बेटियों की सही परवरिश करने की बजाय खुद को नशे के समंदर में ऐसा डुबोया कि अब वह इससे बाहर नहीं निकल पा रही है। उसकी बाजुओं पर पड़े इंजेक्शन के निशान यह बताने के लिए काफी हैं कि नशा किस कद्र उस पर हावी हो गया है। नशे की इस लत की वजह से ही उसे साथी भी ऐसे मिले जो पहले से ही इस दलदल में धंसे हुए हैं। इसके बाद उसने शर्म, हया के सब पर्दे हटा दिए और नशे की तलब पूरी करने के लिए नशे के धंधे में हाथ भी आजमाने शुरू कर दिए। सूत्रों की मानें तो शनिवार को भी पुलिस ने उक्त महिला को पकड़ने के लिए ट्रैप लगाया था लेकिन शनिवार को पुलिस उसके पास से नशे की खेप हासिल न कर सकी। बेटी है अनमोल कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहे जिला प्रशासन के जागरूकता अभियानों क४े बावजूद एक महिला द्वारा नशे की दलदल में फंसकर अपने फूल सी मासूम बेटियों का जीवन नारकीय बना देना हर किसी को स्तब्ध कर रहा है।

 

 

You might also like