चंबा चौगान में ‘शिव कैलाशों के वासी’

चंबा उत्सव की दूसरी सांस्कृतिक संध्या लोक गायकों ने खूब बांधा समां

चंबा –वंदना कला मंच के तत्वावधान में ऐतिहासिक चौगान में आयोजित तीन दिवसीय चंबा उत्सव की दूसरी सांस्कृतिक संध्या लोक गायक जोगिंद्र पाल जौनी व गायिका नीरू चांदनी के नाम रही। चंबा उत्सव की दूसरी सांस्कृतिक संध्या में डीसी विवेक भाटिया ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। आयोजन समिति के सदस्य सुरजीत ठाकुर ने मुख्यातिथि को शाल व टोपी पहनाकर और स्मृति चिंह भेंट कर सम्मानित किया। चंबा उत्सव की दूसरी सांस्कृतिक संध्या की शुरूआत मुसाधा गायन के साथ हुई। इसके बाद स्टार कलाकार लोक गायक जोगिंद्र पाल जोनी व गायिका नीरू चांदनी ने एक के बाद एक गीत प्रस्तुत कर उपस्थित दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। नीरू चांदनी ने पत्ता पत्ता बूटा बूटा, कंकरिया मारके जगाया तू मेरे सपनो में आया, एक दो तीन व नीरू चली घुमदी आदि गीतों से समां बांधा। लोक गायक जोगिंद्र पाल जोनी ने भी शिमला कितनी कि दूर, शिव कैलाशो के वासी, हेठ मछली ऊपर जाल व ऐंचली गायन की प्रस्तुति दी। इसके अलावा खज्जियार के जितेंद्र पंकज शर्मा ने कि बणू दुनिया दां गीत प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। इसके बाद साच के रवि निगम ने अधियो बोतलों व पाणी दी टैंकी आदि गीत प्रस्तुत किए। कार्यक्त्रम के दौरान अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित भी किया गया।

 

You might also like