टीजीटी के पद भरने के लिए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी

शिमला – प्रारंभिक शिक्षा विभाग ने 329 टीजीटी पदों को भरने के लिए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी है। प्रारंभिक शिक्षा विभाग की मानें तो आचार संहिता की वजह से सिरमौर और कांगड़ा के सरकारी स्कूलों में टीजीटी शिक्षकों की नियुक्तियां करने में बाधा आ रही है। जबकि हिमाचल में सबसे ज्यादा टीजीटी शिक्षकों की जरूरत सिरमौर जिला में ही है। यही वजह है कि टीजीटी की 329 पदों पर बैचवाइज नियुक्तियां देने के लिए राज्य चुनाव आयोग पत्र लिखकर दोनों जिलों में शिक्षकों की नियुक्तियों को लेकर आदेश जारी करने की मांग की है। बीते साल नवंबर में हुई कैबिनेट की बैठक  में टीजीटी के 835 नए पद भरने को मंजूरी दी गई थी। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने 329 पद बैचवाइज भरने की इस साल फरवरी माह में प्रक्रिया शुरू की थी।  टीजीटी आर्ट्स के 197, टीजीटी नॉन मेडिकल के 92 पद और टीजीटी मेडिकल के 42 पद घोषित किए गए। जुलाई महीने तक जिलों में काउंसलिंग प्रक्रिया पूरी की गई। अगस्त महीना स्टेट मैरिट बनाने में बीता। फिर मंत्रियों और विधायकों की ओर से नियुक्तियों के लिए जारी किए गए डीओ के चलते सूची फाइनल करने में देरी हुई। दो विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव की अधिसूचना जारी होने से शिक्षकों की भर्तियां नहीं हो पा रही हैं। ऐसे में  चुनाव आयोग को भेजे गए पत्र पर शिक्षा विभाग को मंजुरी मिलती है या नहीं।

You might also like