दिन चढ़ता गया…मतदान बढ़ता गया

धर्मशाला में पहली बार हुए उपचुनाव में धीमी गति से शुरू हुआ मतदान; खेतों में धान का काम करके दोपहर बाद  वोट डालने पहुंचे लोग, सुबह नौ बजे 9.80, शाम पांच बजे 64.63 फीसदी मतदान, 89 पोलिंग बूथ, दो महिला व एक दिव्यांग बूथ में मतदान 

धर्मशाला –विधानसभा क्षेत्र धर्मशाला के इतिहास में पहली बार हुए उपचुनावों में अति धीमी रफ्तार से मतदान हुआ।  सुबह बिलकुल धीमी गति से चले मतदान ने दोपहर बाद रफ्तार पकड़ी, जिसके बाद शाम पांच बजे तक पुराने वर्ष के मुकाबले तक प्रतिशत पहुंच सका। सुबह आठ बजे से पहले ही मतदान केंद्र में  मतदाता पहुंचने शुरू हो गए। सुबह नौ बजे पहली मतदान प्रतिशतता 9.80 प्रतिशत रही, जबकि शाम पांच बजे 64.63 प्रतिशत तक मतदान पहुंच गया। अंतिम मतदान देर शाम सात बजे के करीब 65.39 दर्ज किया गया।  धर्मशाला विधानसभा में उपचुनाव में दोपहर बाद मतदान में काफी वृद्धि दर्ज की गई। शाम पांच बजे पहुंचते तक 20 पोलिंग बूथों की रिपोर्ट न आने पर भी 64.63 प्रतिशत तक मतदान पहुंच गया।  मिली जानकारी के अनुसार सुबह व दोपहर तक धर्मशाला के मैदानी क्षेत्रों में लोग धान की फसल को एकत्रित करने के लिए अपने खेतों में ही डटे रहे। जबकि दोपहर बाद खेतों से लौटकर लोगों ने पोलिंग स्टेशन में पहुंचकर अपने मतदान का इस्तेमाल किया। धर्मशाला में कुल मतदान 65.39 प्रतिशत मतदान हुआ है।  इसमें पुरुष मतदाता 25294 और महिला मतदाता 26294 को कुल मिलाकर 53 हज़ार के आसपास मतदाताओं ने अपने मत का इस्तेमाल किया है।

पांच बजे के बाद भी मतदाताओं की लाइनें

गगल । धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र उपचुनाव में मतदान का समय बेशक पांच बजे तक था, लेकिन धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के कुछ मतदान केंद्रों में शाम पांच बजे के बाद भी मतदाताओं की लंबी कतारें लगी रही। झियोल के मतदान केंद्र में शाम 5ः30 के बाद भी लगभग 150 के लगभग मतदाता लाइन में थे। उधर, मंदल मतदान केंद्र पर भी 5ः30 बजे के बाद भी मतदाता अपना मताधिकार करने के लिए कतारबद्ध खड़े थे । मंदल में शाम 6ः10 बजे और झियोल में शाम  6ः20  पर मतदान खत्म हुआ।

You might also like