दौलतपुर चौक में लोन न भरने पर मकान सील

मालिक ने 2014 में लिया था 35 लाख का ऋण, ब्याज सहित 42 लाख रुपए के पार पहुंची कर्ज की रकम

दौलतपुर चौक –क्षेत्र के निकटवर्ती गांव में पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों ने शुक्रवार को एक बड़ी कार्रवाई करते हुए लोन वापस न करने पर एक डिफाल्टर उपभोक्ता का मकान को कब्जे मंे लेकर उसे पुलिस की मौजूदगी में सील कर दिया जिससे क्षेत्र के अन्य डिफाल्टर उपभोक्ताओं में हड़कंप मच गया है। मिली जानकारी के अनुसार निकटवर्ती गांव के एक व्यवसायी उपभोक्ता ने पीएनबी शाखा दौलतपुर चौक से 2014 में पहले पांच लाख रुपए फिर 30 लाख का ऋण लिया, लेकिन चार पांच वर्ष बीत जाने पर भी उसने ऋण वापस न किया। बैंक शाखा द्वारा समय समय पर नोटिस भेजे गए लेकिन उक्त उपभोक्ता पर कोई असर न हुआ। जबकि उक्त ऋण  की राशि ब्याज सहित बढ़कर 42 लाख रुपए से भी ऊपर हो गई उक्त ऋण बैंक का सबसे बड़ा एनपीए बन गया। इस पर बैंक के ऑथोराइजड लीड आफिसर जेपी भनोट, स्थानीय शाखा प्रबंधक एसएन धीमान एवं उनके स्टाफ के अलावा हैड कांस्टेबल भागा राम पर आधारित पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और उक्त उपभोक्ता के मकान को कब्जे में लेकर उसे सील कर दिया। साथ ही उस पर पीएनबी बैंक के कब्जे का नोटिस भी चिपका दिया। उधर, पीएनबी बैंक के ऑथोराइज्ड लीड आफिसर जेपी भनोट ने पंजाब नेशनल बैंक द्वारा निकटवर्ती गांव में 42 लाख रुपए से भी ऊपर लोन न चुकाने पर एक आवास का कब्जा लेकर उसे सील करने की पुष्टि की है। साथ ही उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि बैंक से सही उद्देश्य के लिए लोन लें और उसे समय पर चुका भी दें। उधर, चौकी प्रभारी तरसेम सिंह ने बताया कि पीएनबी बैंक के आग्रह पर निकटवर्ती गांव में एक आवास सील करने हेतु पुलिस द्वारा प्रोटेक्शन के रूप पुलिस टीम भेजी गई थी।

You might also like