धनतेरस…सोने-चांदी के सिक्कों की डिमांड

राजधानी में त्यौहार के लिए बाजारों में खूब रौनक, हॉलमार्क का खास ख्याल रख रहे लोग

शिमला –शिमला में इन दिनों धनतेरस और दीपावली को लेकर खरीददारों के लिए बाजार सज कर तैयार हो चुके हैं। सुबह से शाम तक बाजार में खरीददारों की भीड़ देखी जा सकती है। पूरे साल भर छोटे बडे व्यापारी दिवाली व धनतेरस का बेसब्री से इंतजार करते हंै। इस अवसर पर पूरे साल भर से अधिक मुनाफा कमाने की उम्मीद दुकानदारों को रहती है। यहीं नहीं धनतेरस के लिए शहर की ज्यूलरी की दुकानों में सुबह से शाम तक खूब रश देखा जा रहा है। इन दिनों ज्यूलरी की दुकानों में सोने व चांदी के सिक्कों की खूब डिमांड है। बता दें कि सोने  के एक सिक्के की क ीमत 4 हजार से शुरू है वहीं चाँदी के सिक्के की कीमत 2 हजार से शुरू है। हालांकि सिक्कों की कीमत उसके भार पर भी आधारित रहती है। वहीं इन दिनों जो भी खरीदा जा रहा है वह हॉलमार्किंग के किसी उत्पाद को तय मापंदडों पर प्रमाणित किया जाता है। अगर सोना-चांदी हॉलमार्क है, तो इसका मतलब है कि उसकी शुद्धता प्रमाणित है। इस बात का लोग विशेष ध्यान रख रहे हैं। हॉलमार्क को देखकर ही सोने की खरीददारी कर रहे हंै। वही, दिवाली के लिए शहर में जगह-जगह मिट्टी के दीये व लक्ष्मी-गणेश की मूर्ति के अलावा घर सजाने के समान बिक रहे हैं। वैसे तो दीपावली में लोग ढेर सारे सामानों की खरीददारी करते हैं, लेकिन लक्ष्मी-गणेश की मूर्तियों की खरीददारी सबसे अहम और शुभ मानी जाती है। अधिकतर लोग मूर्तियों की ही शॉपिंग कर रहे हैं। अब मूर्तियों में भी कई तरह की डिजाइन उपलब्ध हैं। इस अवसर पर मिट्टी की मूर्ति में जहां जड़ी और मोती लगी हुई गणेश लक्ष्मी की मूर्ति मिल रही हैं। वहीं चांदी की मूर्ति की शॉपिंग भी खूब हो रही है। कई लोग अपने घर के मंदिर में चांदी की मूर्ति हमेशा के लिए  स्थापित करते हैं, जिसे कभी विसर्जन नहीं किया जाता है। मोती और जड़ी के वर्क के साथ मिल रही लक्ष्मी गणेश की मूर्ति दीपावली को देखते हुए अब सड़क किनारे दुकानें सज चुकी हैं, जो आम लोगों के लिए खास माना जाता है। इसलिए यहां दीपावली के अवसर पर अभी से ही मिट्टी की खूबसूरत मूर्ति मिलने लगी हैं, जिसमें मोती और जड़ी वर्क चढ़ा हुआ है। वहीं, मिट्टी में भी ओरीजनल कपड़े और मुकुट पहनी हुई मां लक्ष्मी को पसंद किया जा रहा है। इस बारे में दुकानदारों ने बताया कि हम लोग दीपावली के एक हफ्ते पहले ही दुकान सजा देते हैं, जो दीपावली के दिन तक रहता है। 

पर्व के लिए सोने व चांदी के सिक्कों का बढ़ा क्रेज

दिवाली व धनतेरस के लिए लोग चांदी व सिक्कों की कर रहे खूब खरीददारी। इन सिक्कों की खास बात तो यह है कि इनमें मां लक्ष्मी व गणेश भगवान एक साथ विराजमान होते हंै। लक्ष्मी पूजन के अवसर पर इन सिक्कों का अपना ही महत्व है। साथ ही मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए लोग इन सिक्कों की खरीददारी कर रहे हंै। यह खरीददारी दिवाली तक ऐसे ही चलने वाली है। बताया जा रहा है कि इन दिनों व्यापारी भी काफी मुनाफा कमा रहे हैं।

कांसे के बर्तनों की खूब हो रही खरीददारी

शहर में धनतेरस के लिए लोग कांसे के बने बर्तनों की जमकर खरीददारी कर रहे हैं। कांसे के बने गिलास, थाली को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। हालांकि धनतेरस के अवसर पर लोग अपने घर में नए वर्तन की खरीददारी को शुभ मानते हैं इसके लिए अभी से ही लोग खरीददारी में जुट गए हंै। कांसे की थाली 400 रुपए से शुरू होकर 1000 हजार तक है।

शहर में मिट्टी के दीये के जगह-जगह सजे स्टॉल

मिट्टी के रंग बिरंगे दीये देखते ही बन रहे हैें। हालांकि बदलते समय के साथ अब मिट््टी के दीये को लोग कम ही खरीदते हैं। चमचमाती रंग बिरंगी लाइटों व मोमबती ने मिट्ठी से बने सुंदर दीयों की जगह ले ली है। लेकिन कुछ एक लोग मिट्टे के दीपकों की भी खरीददारी करते नजर आ रहे हैं। इसके लिए दीपकों की अलग-अलग किस्में व डिजाइनस बाजार में आए हंै। इसके साथ ही दिवाली के लिए लक्ष्मी व गणेश की सुंदर मूर्तियों की भी लोग खरीददारी कर रहे हैं। 

दिवाली के लिए बाजारों में आए खिल-पतासे

दिवाली के लिए बाजारों में अभी से ही खिल पतासे आ गए हैं। जिसकी लोग अभी से ही खरीददारी कर रहे हंै। दिवाली के अवसर पर खिल पतासों को लोग बड़े चाव के साथ खाते हैं साथ ही इसी का भोग भी लगाते हैं। इसके साथ ही बाजारों में अलग-अलग मिठाइयां भी बनने लगी हैं। वहीं बात करें खिल पतासे व मिठाइयों के दामों की तो उनके  दामों में अभी तक कुछ खास बढ़ोतरी दर्ज नहीं की गई है। यही कारण है कि लोग अभी से ही इनकी जम कर खरीददारी कर रहे हैं।

दीपावली में उपहार देने की है परंपरा

दीपावली में एक दूसरे को उपहार देने की परंपरा है। इसके चलन को देखते हुए बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा दीवाली पर ड्राई फ्रूट्स, नमकीन, चॉकलेट्स साहिय मूर्तियों की आकर्षक पैकिंग को बाजार में बिकने के लिए मंगवाया गया है।

You might also like