नया सुपर डांसर एक कदम दूर

हर परफार्मेंस के बाद तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा केएलबी डीएवी कालेज; मंडी, सरकाघाट, कांगड़ा और पालमपुर में हुई टक्कर

पालमपुर – अग्रणी मीडिया ग्रुप ‘दिव्य हिमाचल’ के लोकप्रिय इवेंट ‘डांस हिमाचल डांस सीजन-7’ के सेमीफाइनल के आखिरी दिन मंगलवार को मंडी, सरकाघाट, कांगड़ा व पालमपुर के नृत्य कला प्रेमियों ने कमाल की परफॉर्मेंस देकर खूब सुर्खियां बटोरीं। केएलबी डीएवी कन्या महाविद्यालय के हरीकृष्ण  हॉल में सेमीफाइनल के तीसरे दिन ऐसा धमाल मचा कि चाय नगरी पालमपुर की धरती हिल उठी। फिनाले में पहुंचने के लिए हुई जंग अति रोचक रही। दर्शकों की वाहवाही से प्रतिभागियों के हौसलों  ने नई उड़ान भरी। प्रतिभागियों की परफॉर्मेंस में आए अद्भुत निखार से निर्णायक मंडल भी हैरान रह गया। इस प्रतियोगिता में मंडी, सरकाघाट कांगड़ा और पालमपुर के प्रतिभागियों के बीच कड़ा मुकाबला हुआ। सुबह-सवेरे ही सभी प्रतिभागी बुलंद हौसलों के साथ केएलबी डीएवी कालेज के प्रांगण में भारी संख्या में मौजूद थे। निर्णायक मंडल ने इन प्रतिभागियों को डांस कला के विभिन्न गुर भी सिखाए।

इन प्रतिभागियों ने भी नृत्य कला से किए मदहोश

सीनियर ग्रुप में मंडी की भारती शर्मा मोरे परदेसी गीत पर खूब तालियां बटोरीं। पालमपुर की रुचिका ने अप्सरा पर अपनी जोरदार परफॉर्मेंस देकर खूब प्रशंसा वटोरी। कांगड़ा के नागेश ने खमोशियां सांग पर जमकर डांस किया। सुदेश व मेघना की प्रस्तुति भी हॉल में सराही गई। सरकाघाट की आरुषि ने होश है न खबर है, पेश कर सुर्खिया में रही। लता गुलेरिया ने पंजाबी सांग पर  धमाल मचाया। मंडी की भारती शर्मा ने मोरे परदेसिया पर अपनी बेस्ट प्रस्तुति दी। वर्षा शर्मा व लोकेश की परफॉर्मेंस भी सराहनीय रही।

ग्रुप डांस में इनकी धमक

ग्रुप डांस  में रेनबो इंटरनेशनल स्कूल नगरोटा, अनुराधा पब्लिक स्कूल  पालमपुर, माउंट कार्मेल स्कूल ठाकुरद्वारा, इरा एंड गौरी ग्रुप, ग्रीन फील्ड ग्रुप, प्रियांशी ग्रुप, जय पब्लिक बनूरी स्कूल ग्रुप, मुस्कान एंड इशिता सरकाघाट, नटराज अकादमी मंडी, देव पब्लिक स्कूल मंडी ग्रुप की प्रस्तुतियां भी अति सराहनीय रही।

इन गणमान्यों ने बढ़ाई कार्यक्रम की शोभा

इस सेमीफाइनल की अंतिम प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि के तौर पर इविंगज अकादमी, चामुंडा, धर्मशाला व पालमपुर के चेयरमैन  गुलशन वर्मा व निदेशक कैप्टन पांडव राम पधारे थे। तीन दिनों तक चलने बाले डीएचडी के इस मेगा सेमीफाइनल में प्रदेश के कोने कोने से भाग लेने आए प्रतिभगियों ने 315 प्रस्तुतियों में 500 से अधिक डांस कला प्रेमियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर फिनाले में जगह बनाने के लिए खूब पसीना बहाया। इस मौके पर अनुराधा पब्लिक स्कूल पालमपुर की प्रिंसिपल रेणु कटोच भी अतिथि के तौर पर उपस्थित रहीं। निर्णायक मंडल भी अद्भुत टेलेंट देखकर असमंजस की स्थिति में रहा।

सीनियर्स में दम, जूनियर्स भी नहीं कम

कांगड़ा की नन्ही कुंजल ने कमली कमली सांग पर अपनी परफॉर्मेंस देकर खूब तालियां बटोरीं। स्पर्श ने क्या से क्या हो गया देखते देखते प्रस्तुत कर अपने टेलेंट को दर्शाया। मंडी के जूनियर ग्रुप के मेधावी सिंह ने साथी साथी रे सांग पर कमाल का डांस किया। मन्नत ने चुनरी के नीचे क्या है, आइटम पर उपस्थित जनसमूह को झूमने पर मजबूर कर दिया। सरकाघाट से आई मन्नत शर्मा ने घूंघट उठा ले की दमदार प्रस्तुति दी। कांगड़ा की कुंजल चंबियाल ने मै रूठया यार मनाना तथा शिवांशी ने हंसता हुआ नूरानी चेहरा दमदार परफॉर्मेंस दी। पालमपुर से जूनियर ग्रुप को मेहविश की प्रस्तुति हैरान करने वाली थी। इसी तरह शगुन सूद, आस्था ठाकुर, कनक चंदेल की प्रस्तुति भी सराहनीय रही। 

सबसे ज्यादा साकी-साकी गाने पर झूमे युवा प्रतिभागी

पालमपुर  – सेमीफिनाले के तीसरे दिन हर प्रतिभागी  में स्टेज पर एक अलग ही जोश देखने को मिला, जिससे यह साफ  लग रहा था कि वह अपने आप को ग्रैंड फिनाले के मंच पर लेकर जाकर ही सांस लेंगे। बता दें कि चाय नगरी पालमपुर के केलबी इस बार के सेमीफिनाले में नैनो वाले और साकी साकी गाने पर कुल 500 प्रतिभागियों में से 56 से ज्यादा प्रतिभागियों ने इन गानों पर डांस किया। गौर रहे कि  इस मौके पर चाय नगरी पालमपुर के केएलबी कालेज के हरि कृष्ण हाल में प्रतिभागियों के अभिभावकों के साथ साथ चाय नगरी पालमपुर के कई गणमान्य लोगों ने शिरकत की व दिव्य हिमाचल के मंच पर डांसर्स द्वारा  बिखेरे जलवों को कैमरे में कैद किया।

बच्चें का भविष्य संवार रहा ‘दिव्य हिमाचल’

पालमपुर – पालमपुर में चल रहे ‘डांस हिमाचल डांस सीजन-7’ के सेमीफाइनल के दौरान प्रतिभागियों के अभिभावकों, रिश्तेदारों तथा स्कूल अध्यापकों ने ‘दिव्य हिमाचल’ के साथ अपने बोल सांझे करते हुए कहा कि वे अपने बच्चों को ‘दिव्य हिमाचल’ ग्रुप द्वारा दिए गए मंच के माध्यम से आगे बढ़े मंच पर देखना चाहते हैं, जिसके लिए वह अपने बच्चों को पूरा सहयोग दे रहे हैं। इस अवसर अभिभावकों और रिश्तेदारों में रजनी सुरियाल, रीटा जमवाल, नीतिका मनीष, प्रतिभा, प्रमिला, सुमन लता, सुकन्या, सर्वजीत कौर, आभा, अनन्या, रेणु बाला, उत्तरा ठाकुर इत्यादि ने अपने विचार साझा किए तथा यह भी कहा कि ‘दिव्य हिमाचल’ में उन्हें अपने बच्चों का भविष्य नजर आता है। बता दें कि इस आयोजन में हिस्सा ले रहे जजेस विकल, नीतीश ठाकुर और नितेश धीमान भी ‘दिव्य हिमाचल’ के डांस हिमाचल डांस के मंच से ही निकले हुए हैं। केएलबी डीएवी कालेज पालमपुर की अध्यापिका उत्तरा ठाकुर ने भी कार्यक्रम में उपस्थित प्रतिभागियों उनके साथ आए अभिभावकों एवं रिश्तेदारों को भी संबोधित किया तथा ‘दिव्य हिमाचल’ की भूरी-भूरी सराहना की।

सेमीफाइनल के परिणाम पर टिकी प्रतिभागियों की नजरें

पालमपुर – ‘दिव्य हिमाचल’ के डांस हिमाचल डांस सीजन सात के सेमीफाइनल का दौर समाप्त होने के साथ ही प्रतिभागियों की नजरें अब परिणामों पर टिक गई हैं। पालमपुर की ठंडी फिजाओं में तीन दिन तक चले सेमीफाइनल में प्रदेश के विभिन्न जिला से ऑडिशन राउंड में चुने गए प्रतिभागियों ने निर्णायकों को प्रभावित करने में कोई कमी नहीं रखी। ‘डांस हिमाचल डांस’ के मंच से टेरेंस लुइस अकादमी तक पहुंचने का क्रेज युवाओं की प्रस्तुतियों में साफ  नजर आ रहा था। डांस के दौरान ड्रेस को लेकर भी बच्चे सचेत दिखे, जिससे उनमें प्रतिस्पर्धा की भावना भी झलक रही थी। ‘डांस हिमाचल डांस’ के मंच का क्रेज इतना है कि बच्चे एक सीजन के बाद दूसरे सीजन का इंतजार करते हैं।

You might also like