नोटिस के बाद भी प्रचार में फरसा लेकर पहुंचे आप नेता जयहिंद

पंचकूला – विधानसभा चुनाव का प्रचार जोरों शोरो पर है। सभी पर्टियों के उम्मीदवार कोई कसर नहीं छोड़ रहे। ऐसे में मुख्यमंत्री के गर्दन काटने वाले वाक्य के बाद अकसर पार्टी प्रचार में फरसा लिए घुमने वाले आम आदमी के नेता जयहिंद फरसा लेकर अपनी पार्टी का प्रचार कर रहे है। जयहिंद ने फतेहाबाद के रिटर्निंग अधिकारी को तीखा जवाब भेजा है। जयहिंद ने कहा कि चुनाव आयोग उन पर जो मर्जी एक्शन ले, लेकिन वो फरसा नहीं छोड़ेगें। फतेहाबाद जनसभा में वऊरसा लेकर पहुंचे जयहिंद से रिर्टनिंग अधिकारी ने सपष्टीकरण मांगा था। लेकिन आप के प्रदेशाध्यक्ष ने लिखित जवाब में कहा कि फरसा मैनें अपनी सुरक्षा के लिए रखा हुआ, उन्होंने कहा कि क्या कानून व संविधान की पालना चुनाव से पहले या बाद में अलग-अलग होती है। जयहिंद ने कहा कि फरसा एक धार्मिक चिन्ह है। अगर गदा भी एक शस्त्र है, तो फरसा भी एक शस्त्र है। जिसे सार्वजनिक रूप से सत्तारुढ़ के नेता दे रहे हैं, लेकिन उन्हें तो कोई नोटिस नहीं दिया जा रहा।

You might also like