पनोह-हरलोग सड़क पर मौत का सफर

घुमारवीं –कंदरौर से पनोह-हरलोग की सड़क की हालत खस्ता है। सड़क पर वाहन चलाना जोखिम से भरा है। गड्ढों में तबदील हो चुकी सड़क पर दोपहिया वाहन तथा छोटी गाडि़यां चलाना मुश्किल हो गया है। स्कूली बच्चों व राहगीरों को सड़क की खस्ता हालत से दो-चार होना पड़ रहा है। सड़क से उड़ रही धूल-मिट्टी के कारण सड़क किनारे बसे लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही है। सड़क की समस्या के समाधान को ग्रामीणों का एक प्रतिनिधिमंडल उपायुक्त से मिला। ग्रामीणों ने उपायुक्त को ज्ञापन सौंप कर सड़क की दयनीय हालत को सुधारने की मांग की। पंकज कुमार, नीलम कुमारी, प्रेमलता, दीपिका, शिखर, चंदा देवी, लता देवी, अजय, रेणुका देवी, अशोक चंदेल, राजू शर्मा, सोहन लाल, सुरेंद्र कुमार, सुदामा राम, नितिश कुमार, रोशन लाल, विजय कुमार, शशि कुमार, विक्रम सिंह, कोमल चंदेल, आंचल चंदेल, गंगा प्रसाद, निर्मला देवी, राजेश कुमार, रचना देवी, सतीश कुमार, जतिन, कृति, शंकुतला देवी, सुधीर चंदेल व साहिल चंदेल सहित 75 लोगों का हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन उपायुक्त को सौंपा। ग्रामीणों ने उपायुक्त को बताया कि यह सड़क लोक निर्माण विभाग के अधीन आती है। इस सड़क पर रोजाना 400 से अधिक छोटी-बड़ी गाडि़योंे की आवाजाही होती है, लेकिन सड़क की हालत खस्ता होने से लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही है। ग्रामीणों ने बताया कि जब इस सड़क से किसी वीआईपी ने सफर करना होता है, तो संबंधित विभाग सड़क पर पड़े गड्ढों को मिट्टी से भर देता है और इसके बाद फिर सड़क गड्ढों में तबदील हो जाती है। ग्रामीणों का कहना है कि सड़क पर पड़े गड्ढों के कारण दोपहिया व छोटी गाडि़यों के चालकों को सबसे अधिक परेशानियां झेलनी पड़ रही है। इसके अलावा स्कूली बच्चों व राहगीरों को भी सड़क की खस्ता हालत से दो-चार होना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि सड़क से उड़ रही धूल मिट्टी के कारण सड़क किनारे बसे लोगों का जीना भी दुश्वार हो गया है। इस समस्या के बारे में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को कई बार अगवत करवा चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई सुनाई नहीं हुई है। ग्रामीणों ने ज्ञापन के माध्यम से उपायुक्त से मांग की कि शीघ्र ही लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए जाए कि सड़क की हालत को सुधारा जाए। इससे इस सड़क से गुजरने वाले वाहन चालकों सहित राहगीरों को दिक्कतों का सामना न  करना पड़े।

 

You might also like