पर्यटन के शाृंगार से गोबिंदसागर में खिंचे आएंगे सैलानी

आज उपायुक्त कार्यालय में पर्यटन अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे एमएलए, अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस मोटर बोटें व शिकारे चलाने की भी योजना

बिलासपुर – गोबिंदसागर में पर्यटन शृंगार के लिए एक महत्त्वाकांक्षी योजना तैयार की जाएगी। पर्यटन विकास की संभावनाएं तलाशने के लिए पर्यटन विभाग की एक टीम रविवार को बिलासपुर पहुंचेगी और उपायुक्त कार्यालय में एमएलए सुभाष ठाकुर की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में झील में पर्यटन विकसित करने के लिए गहन चर्चा की जाएगी। यदि सब ठीक रहा तो वह दिन दूर नहीं, जब झील में अच्छी क्वालिटी यानी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस मोटरबोटें और शिकारे चलते हुए नजर आएंगे। तो वहीं, वाटर स्पोर्ट्स की राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं का आयोजन भी हो सकेगा। जानकारी के मुताबिक गोबिंदसागर झील में पर्यटन विकास के लिए जिला प्रशासन एक बड़ी योजना पर विचार कर रहा है जिसे मूर्तरूप देने के लिए रविवार सुबह साढ़े दस बजे उपायुक्त कार्यालय परिसर में एक अहम बैठक बुलाई गई है। इस बैठक की अध्यक्षता सदर हलके के विधायक सुभाष ठाकुर करेंगे। इसमें पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। मीटिंग में गोबिंदसागर झील में पर्यटन विकसित करने को लेकर चर्चा की जाएगी। बैठक में जिला के अन्य स्थानों में टूरिज्म विकसित करने की संभावनाओं पर भी चर्चा होगी। बताया जा रहा है कि कश्मीर की डल की तर्ज पर यहां झील में भी अच्छी गुणवत्ता वाली मोटरबोटें व शिकारे चलाए जाएंगे, ताकि कुल्लू मनाली जाने वाले पर्यटक बिलासपुर में भी रूक सकें। बैठक के बाद पर्यटन विभाग के अफसरों की टीम प्रशासनिक अधिकारियों के साथ गोबिंदसागर में पर्यटन संभावनाओं की भी तलाश करेगी। झील किनारे पर्यटकों के बैठने और अन्य सुविधाओं को लेकर भी योजना बनेगी। झील में पर्यटन विकास को लेकर एक बड़ी प्लानिंग की जाएगी। यहां बता दें कि हालांकि पहले भी कई बार झील में पर्यटन विकास को लेकर योजनाएं बनती रही हैं, लेकिन आज दिन तक एक भी योजना सिरे नहीं चढ़ सकी। बिलासपुर में पर्यटन लिहाज से कोई खास न होने की वजह से पर्यटक भी कुल्लू मनाली का रूख करते हैं। पर्यटकों को बिलासपुर में रोकने के मद्देनजर कार्ययोजना तैयार की जाएगी। उधर, बिलासपुर के उपायुक्त राजेश्वर गोयल ने बताया कि रविवार को सुबह साढ़े दस बजे विधायक सुभाष ठाकुर की अध्यक्षता मंे एक बैठक रखी गई है जिसमें पर्यटन अधिकारी मौजूद रहेंगे। इस बैठक मंे गोबिंदसागर झील में पर्यटन विकास को लेकर चर्चा की जाएगी। इसके अलावा बंदलाधार पर पैराग्लाइडिंग के लिए साइट विजिट किया जाएगा।

You might also like