पश्चिम बंगाल में लागू हो राष्ट्रपति शासन

निर्दोष हिंदुओं की हत्या से आहत विभिन्न संगठनों ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंप मांगी कार्रवाई

चंबा –पश्चिम बंगाल में निर्दोष हिंदुओं की हत्या से आहत विभिन्न हिंदू संगठनों ने मंगलवार को डीसी विवेक भाटिया के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर इस जंघन्य अपराध की सीबीआई से जांच करवाकर दोषियों का पता लगाकर मृत्युदंड़ देने की मांग उठाई है। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल सरकार को बर्खास्त कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग भी की है। डीसी के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन में संगठनों का कहना है कि दस अक्तूबर, 2019 को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में बंधू प्रकाश पाल, गर्भवती पत्नी और आठ वर्षीय बेटे की निर्मम हत्या कर दी गई। इस घटना से संपूर्ण राष्ट्र का हिंदू समाज आहत है। पश्चिम बंगाल वहां के हिंदुओं के लिए आंतक का पर्याय बनकर रह गया है। उन्होंने आरो लगाया है कि बांग्लादेशी मुस्लिम घुसपैठियों की अत्याधिक संख्या होने के कारण वोटों के लालच में ममता सरकार उनके असंवैधानिक दुष्कृत्यों की अनदेखी कर रही है बल्कि हिंदू समाज पर ओर अधिक अत्याचार करने को लेकर प्रोत्साहित कर रही है। उन्होंने पश्चिम बंगाल सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग के अलावा एनआरसी लागूू करके बांग्लादेशी मुस्लिम घुसपैठियों को वापिस भेजा जाए। उन्होंने नागरिकता बिल में संशोधन कर बांगलादेश से प्रताडि़त होकर आए हिंदुओं को भारतीय नागरिकता देने के साथ संरक्षण व सुरक्षा देने की बात भी कही है। इस प्रतिनिधिमंडल में जिला बजरंग दल के संयोजक रवि भारद्वाज, विहिप के जिला प्रधान चतरसेन, उपाध्यक्ष अमरजीत सिंह अरोडा, बजरंग दल के चंबा प्रखंड के सह संयोजक अमित भारद्धाज, नगर संयोजक राकेश कुमार, विघार्थी प्रमुख जिला चंबा अजय ठाकुर व दुर्गा वाहिनी की रीना कुमारी सहित काफी तादाद में सदस्य मौजूद रहे।

You might also like