पुलिस प्रशासन ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि

 कैथल – सोमवार 21 अक्तूबर की सुबह पुलिस लाइन कैथल में पुलिस स्मृति दिवस गौरवमयी तरीके से मनाया गया। दिनांक एक सितंबर 2018 से दिनांक 31 अगस्त तक भारत वर्ष में पुलिस तथा अर्धसैनिक बलों के कुल 292 जवान शहीद हुए है, जिनमें हरियाणा के 3 जवान शामिल है, जिनसे देश की एकता, अखंडता व सुरक्षा के लिए प्राणों की बाजी लगाने के लिए प्रेरणा लेने का संदेश दिया गया।  एसपी विरेंद्र विज तथा पुलिस विभाग के अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा अमर शहीदों के बलिदान को याद कर पुलिस लाईन स्थित पुलिस स्मृति स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित किए गए। इस अवसर पर 2 सबइंस्पैक्टर व 22 जवानों की टुकडी द्वारा शोक सलामी दी गई तथा बिगुलर द्वारा मातमी धुन बजाई गई। एक एएसआई, दो हेडकांस्टेबल तथा 8 जवानों की टुकडी द्वारा शहीद हुए जवानों के सम्मान में 3-3 रांऊड हवाई फायर किए। पुलिस पीआरओ ने जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 21 अक्टुबर 1959 के दिन केंद्रीय आरक्षी पुलिस बल के बहादुर नौजवानों द्वारा हॉटस्प्रिंग, लेह-लद्दाख में देश की सीमाओं की सुरक्षा करते हुए चीनी घुसपैठियों के साथ हुई मुठभेड़ में 10 जवानों ने अपने प्राणों का बलिदान दिया था। तब से लेकर आज तक समस्त भारतवर्ष में प्रत्येक 21 अक्तूबर को पुलिस शहीदी दिवस के रुप में मनाया जाता है। एसपी ने कहा कि हमें उन अमर शहीदों के बलिदान पर गर्व है, जिनके शौर्य कारण न सिर्फ देश की सीमाएं सुरक्षित हैं, अपितु अपराधी तत्वों के साथ लोहा लेते हुए आंतरिक सुरक्षा भी की है।

सभी को बताए 292 शहीदों के नाम

एक वर्ष के कार्यकाल दौरान पुलिस व विभिन्न अर्ध सैनिक बलों के 292 जवान देश की सीमा व आंतरिक सुरक्षा के दृष्टिगत जान की बाजी लगाते हुए शहीद हुए है। शहीद होने वाले जवानों में रेवाडी जिले के एसआई रणबीर सिंह, अंबाला के ईएसआई सुरेंद्र कुमार तथा आरबीआई के हैडकांस्टेबल यशपाल सहित हरियाणा के 3 जवान शामिल है। वल्फेयर इंस्पेक्टर रमेश कुमार द्वारा सभी 292 शहीदों के नाम शहीद स्मारक पर पढ़ कर सुनाए गए।

पंचकूला में महानिदेशक ने याद किए जवान

हरियाणा पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में आज पंचकूला पुलिस लाईन में पुलिस मेमोरियल पर जाकर राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले पुलिस के अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। बीते वर्ष देशभर में शहीद हुए सभी पुलिस व केंद्रीय सशस्त्र बलों के 292 अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए श्री यादव ने कहा कि देश की अखंडता को बनाए रखने के लिए हमारे बहादुर जवानों द्वारा किए गए सर्वोच्च बलिदान को नहीं भुलाया जा सकता।

You might also like