प्याज 122 प्रतिशत तक महंगा फिर भी थोक कीमतों में कमी

नई दिल्ली – प्याज के मूल्यों में बढ़ोतरी के बावजूद सितंबर में थोक मूल्यों पर आधारित मुद्रास्फीति की दर घटकर 0.33 प्रतिशत दर्ज की गई है। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार सितंबर 2018 की तुलना में सितंबर 2019 में थोक मुद्रास्फीति की दर 0.33 प्रतिशत रही है। सितंबर 2018 में यह आंकड़ा 5.22 प्रतिशत था। जुलाई 2019 में थोक मुद्रास्फीति की दर 1.08 प्रतिशत दर्ज की गई थी। चालू वित्त वर्ष में अभी तक बिल्ड अप मुद्रास्फीति की दर 1.17 प्रतिशत रही है, जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आंकड़ा 3.96 प्रतिशत था। आंकड़ों में कहा गया है कि पिछले छह महीनों के दौरान प्याज के दामों में असाधारण 122. 40 प्रतिशत की तेजी आई है। इसके उलट कच्चे तेल 21.41 प्रतिशत, रसोई  गैस 27.51 प्रतिशत और आलू में 22.50 प्रतिशत की गिरावट हुई है।

You might also like