फर्जी आधार कार्ड पर गाडि़यों की खरीद-फरोख्त

सोलन  – महंगी गाडि़यों की करोड़ों रुपए की ठगी मामले में शातिरों ने आधार कार्ड की फर्जी प्रिंटिंग तक कर ली। जांच में विजिलेंस ने अब एक नया खुलासा किया है। शातिरों ने न केवल पीडि़तों के नाम पर गाडि़यां लेकर उनसे ठगी की, बल्कि पंजाब में पंजीकृत करने के लिए उनके आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल भी किया। इन गाडि़यों को आरएलए (रीजनल लाइसेंस अथॉरिटी) के तहत पंजीकरण के लिए आधार कार्ड के पिछले हिस्से की डिटेल फर्जी प्रिंट करवा ली, जबकि फं्रट साइड में कोई छेड़छाड़ नहीं की। विजिलेंस को यह भी पता चला है कि शातिरों ने आधार कार्ड नाम को छोड़कर डेराबस्सी एवं मोहाली का गलत पता लिखकर फर्जी रूप से नया आधार कार्ड तैयार करवा कर गाडि़यों को पंजीकृत कर पंजाब के नंबर से चलाया जा रहा था। अब विजिलेंस की टीम यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि शातिरों ने आधारकार्ड को कहां प्रिंट करवाया है। बता दें कि विजिलेंस अभी तक छह वाहन रिकवर कर चुकी है, जबकि पांच वाहनों की रिकवरी शेष है। शातिरों से रिकवर किए वाहनों में दो ब्रेजा, एक बलेनो, दो स्विफ्ट और एक वोक्स वोगन गाड़ी शामिल है। बड़ी बात यह की इन सभी गाडि़यों की कीमत लाखों में है। दूसरी ओर विजिलेंस को फिलहाल एक बे्रजा, एक ऑल्टो के-10, एक बाइक व दो स्कूटी की तलाश है। वहीं, विजिलेंस ने जिन गाडि़यों को अभी तक रिकवर किया है, वे बिलकुल कंडम हो चुकी है। इन गाडि़यों को शातिरों द्वारा अभी तक करीब 30 हजार से अधिक किलोमीटर तक चलाया जा चुका है।

मास्टरमाइंड फरार

विजिलेंस में शिकायत के बाद टीम अभी तक तीन शातिरों को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि दो अभी फरार हैं। इनमें एक मास्टरमाइंड भी है, जो फिलहाल विजिलेंस की गिरफ्त से दूर है। विजिलेंस का दावा है कि मास्टर माइंड सहित दूसरे शातिर को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। अंदेशा है कि इस मामले में रिकवर सभी गाडि़यों का प्रयोग अपराध जैसी गतिविधियों के लिए किया गया है।

यह है पूरा मामला….

करोड़ों रुपए की गाडि़यों की ठगी का यह मामला दिसंबर, 2018 का है। बाहरी राज्यों के शातिरों ने प्रदेश के लोगों के नाम पर गाडि़यां फाइनांस करवाकर उन्हें पंजाब, मोहाली एवं आसपास के क्षेत्रों में कंपनियों में लगाकर 30 हजार रुपए प्रतिमाह का देने का वादा किया। इसी झांसे में शातिरों ने पीडि़तों से हल्फनामा लिया था। इसी हल्फनामे का इस्तेमाल शातिरों ने सेल डीड में किया और लोगों को चूना लगाया।

You might also like