बताओ ! मिठाइयां साफ क्यों नहीं

शिमला  –सही तरह से मिठाइयों को नहीं रखने क ा क्या कारण है इसे लेकर दुकानदारों से जवाब तलब किया गया है, जिसमें खासतौर पर ये पूछा गया है कि दुकानों में मिठाइयों को रखने में साफ- सफाई का विशेष ख्याल क्यों नहीं रखा गया है। यह भी देखा जा रहा है कि मिठाइयों पर मक्खी-मच्छर भिनभिना रहे हैं, वहीं उसके उपर कोई कवर नहीं देखा जा रहा है। इसे लेकर शिमला की दस दुकानदारों को नोटिस जारी करने की सूचना है। गौर हो कि शिमला में मिठाइयों की दुकानों पर छापे मारे जा रहे हैं। हैल्थ सेफ्टी एंड रेगुलेशन डिपार्टमेंट के तहत ये निरीक्षण किया गया है, जिसमें छैला में हुई छापामारी के दौरान पेठा, पतीसा और गुलाबजामुन के सैंपल भरे गए हैं। इन सैंपल को कंडाघाट लैब जांच के लिए भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट अब जल्द आ रही है। हालांकि अभी चार सैंपल की रिपोर्ट सही आई है, लेकिन अभी गंदी मिठइयां कहीं बाजार में न बिक रही हो इसे लेकर कई दुकानों में छापामारी की जा रही है, जिसमें छैला में यह छापा मारा गया है।

दुकानदारों को 14 दिन का अल्टीमेटम

त्योहारी सीजन को लेकर स्वास्थ्य सुरक्षा एवं विनियमन विभाग की टीम ने पुराना बस स्टैंड, लोअर बाजार और गंज बाजार में औचक निरीक्षण कर चुकी है,  जिसके बाद अब शिमला के उपरी और ग्रामीण क्षेत्रों में भी छापामारी की जाने वाली है। अभी तक की जा रही छापामारी में मिठाइयों के साथ ही खाने में इस्तेमाल होने वाले मसालों को भी चैक किया जा चुका है। विभाग द्वारा मारे गए छापा के दुकानदारों को 14 दिन का अलटीमेटम जारी किया गया है।

पुराने बस स्टैंड में छह दुकानों पर मारे छापे

पुराने बस स्टैंड की छह दुकानों का निरीक्षण किया गया है। इनमें से दो को हाइजिनक कंडीशन में न रखने के लिए नोटिस जारी किए जा चुके हैं तथा दो किलोग्राम के करीब बासी मिठाई को नष्ट किया गया। लोअर बाजार की पांच दुकानों का निरीक्षण किया जा चुक ा है। इनमें खुले में बनाई जा रही जलेबियों को नष्ट करवाया गया और खुले में न बनाने के निर्देश दिए गए। हैल्थ सेफ्टी एंड रेगुलेशन डिपार्टमेंट के निदेशक एनके लट्ठ का कहना है कि संबंधित अधिकारियों को ये निर्देश जारी किए गए हैं कि त्योहारों के समय मिठाइयों की दुकानों पर छापामारी के ग्राफ को बढ़ाया जाए।

You might also like