भराड़ी अस्पताल में डाक्टर देना भूला विभाग

भराड़ी –सीएचसी भराड़ी स्टाफ  की कमी के चलते आज खुद ही बीमार चल रहा है। यहां पिछले दो साल से न डाक्टरों के पद भर पाए हैं और न ही लोगों का इलाज सही तरीके से हो पा रहा है। इसके कारण लोगों को निजी अस्पतालों की तरफ  मजबूरन अपना रुख करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि इस सीएचसी में 150 से 200 तक ओपीडी होती है, लेकिन समस्या यहां तीन डाक्टर हैं, जिनमें से एक डेंटल, दो एमबीबीएस हैं। एक डाक्टर नाइट ड्यूटी पर मौजूद रहता है, तो दूसरा डे पर। मरीजों को सबसे ज्यादा दिक्कतों का सामना उस समय करना पड़ता है तब अगर कोई डाक्टर छुट्टी पर रहता है। वहीं, मरीजों को टेस्ट भी बाहर करवाने पड़ रहे हैं, जिस कारण मरीजों को आर्थिकी का सामना करना पड़ रहा है। भराड़ी अस्पताल में लोगों को स्वास्थ्य सुविधा न मिल पाने के कारण मरीजों को मजबूरन हमीरपुर या फिर बिलासपुर जाना पड़ रहा है। जिला पार्षद एवं जिला परिषद बिलासपुर  के उपाध्यक्ष अमी चंद सोनी ने बताया कि इस बारे में बार-बार स्वास्थ्य विभाग से मांग की जाती रही है कि इस अस्पताल में डाक्टर व अन्य कर्मियों के पदों को भरा जाए, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। उधर, घुमारवीं खंड चिकित्सा अधिकारी अभिनीत शर्मा ने बताया कि भराड़ी अस्पताल में डाक्टरों के पदों व अन्य समस्याओं के बारे में अधिकारियों को अवगत करवा दिया गया है। शीघ्र ही इस समस्या का समाधान कर दिया जाएगा।

 

You might also like