भाजपा को जाट लैंड से कड़ी चुनौती

75 पार के मिशन पर पड़ सकता है गहरा असर, सीट वितरण से खराब हुए हालात

पंचकूला – हरियाणा में 75 पार का नारा लेकर चली भाजपा को जाट लैंड में कड़ी चुनौती मिल रही है। भाजपा हाल फिलहाल में दिनोंदिन दूसरी पार्टियों से टक्कर में आ रही है। लोकसभा चुनाव और उसके बाद एक मौका था जब हरियाणा में ऐसा प्रतीत हो रहा था कि किसी भी भाजपा प्रत्याशी को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी और आराम से जीत निश्चित हो जाएगी, लेकिन चुनाव के नजदीक आते-आते सारा ही माहौल खराब हो गया और भाजपा की हालत दिन-ब-दिन खराब होती गई। जाटलैंड हरियाणा में लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी के आंतरिक सर्वे में 75 पार होने की उम्मीद थी। उस वक्त दूसरी पार्टियों के कई नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया था। यह सिलसिला काफी दिनों तक चला, जिसके बाद टिकटों के वितरण के आखिरी समय तक यह खेल चलता रहा और टिकट वितरण के बाद भी कई नेता भाजपा में शामिल होते रहे। अब जब चुनावी मंझदार और प्रचार का शोर शुरू हुआ, तो टिकटों के वितरण में ही बीजेपी की हालत खराब हो गई। हरियाणा में भाजपा के ज्यादातर जाट नेताओं को कड़ी चुनौती मिल रही है।  सबसे पहले बात हरियाणा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला की सीट की करते हैं। यहां पर सुभाष बराला की टोहाना सीट बुरी तरह से फंस गई है। यहां पर जेजेपी प्रत्याशी देवेंद्र बबली से भाजपा को कड़ी टक्कर मिल रही है। मुकाबला कांटे की टक्कर का हो गया है। दूसरी तरफ वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु की सीट भी इस बार चुनावी फेर में फंस गई है।

भाजपा ने 20, तो कांग्रेस ने उतारे 27 जाट नेता

हरियाणा में भाजपा ने 20 जाट नेताओं को टिकट दिया है, वहीं कांग्रेस ने 27 उम्मीदवारों को टिकट दिया है। जेजेपी ने 34, तो इनेलो ने 30 जाट उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा है।

इन जाट चेहरों को मिल रही टक्कर

जाट चेहरों में अगर बात की जाए तो बादली में ओमप्रकाश धनखड़ की सीट इस बार फंस गई है। यहां पर कांग्रेस के कुलदीप वत्स से कड़ी टक्कर मिल रही है। वहीं, डबवाली सीट पर आदित्य चौटाला को कांग्रेस के ही अमित सिहाग से कड़ी टक्कर मिल रही है। दादरी विधानसभा में खिलाड़ी बबीता फौगाट को जेजेपी के सतपाल सांगवान और निर्दलीय प्रत्याशी सोमवीर सांगवान से कड़ी चुनौती मिल रही है। वहीं बाढड़ा सीट पर सुखविंद्र मांडी को नैना चौटाला से कड़ी टक्कर मिल रही है।

You might also like