भारत और चीन के बीच अच्छे रिश्ते बेहद जरूरी

 ऊना – धर्मगुरु दलाई लामा रविवार को चंडीगढ़ जाते हुए कुछ देर के लिए ऊना सर्किट हाउस में रुके। इस दौरान दलाई लामा ने कहा कि भारत और चीन के बीच में अच्छे रिश्ते होना बहुत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों की सभ्याताएं बहुत पुरानी हैं और आर्थिक तौर पर भी दोनों ही देश बड़ी शक्तियां हैं। ऐसे में दोनों मुल्कों के बीच अच्छे रिश्ते बेहद आवश्यक हैं। तिब्बत की आजादी पर पूछे गए सवाल पर तिब्बती धर्मगुरु ने कहा कि वर्ष 1974 में हमने तय किया कि चीन से आजादी की मांग नहीं की जाएगी। चीन में रहते हुए तिब्बती सिर्फ अपनी संस्कृति के संरक्षण के लिए कुछ अधिकारों की मांग कर रहे हैं। दलाई लामा ने कहा कि हम तिब्बती नालंदा दर्शन का अनुसरण कर रहे हैं और नालंदा दर्शनतर्क पर आधारित है। आज चीन के कुछ बुद्धिजीवी भी मानते हैं कि तिब्बती बौद्ध धर्म पौराणिक नालंदा परंपरा के अनुसार है, जो पूरी तरह से विज्ञान पर आधारित है। इन बौद्ध शिक्षाओं को आधुनिक शिक्षा के साथ पढ़ाया जा सकता है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा, डीएसपी अशोक वर्मा, सहायक आयुक्त डा. रेखा कुमारी सहित कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

You might also like