महंगाई के खिलाफ जमकर गरजे कामरेड

रामपुर बुशहर –सीपीाआईएम के राष्ट्रीय आह्वान पर बढ़ती मंहगाई के खिलाफ सोमवार को सीपीआईएम लोकल कमेटी ने रामपुर में रोष प्रदर्शन किया। सीपीआईएम ने रोष जाहीर करते हुए कहा कि भाजपा की पूंजीवाद परस्त व पूंजीपतियों के हित की नीतियों के चलते देश व प्रदेश के खास कर गरीब वर्ग का जीवन जीना मुहाल हो गया है। सीपीआईएम का मानना है कि देश के सत्तासीन भाजपा सरकार संघ की नीत्तियों को लागू करने में लगी हुई है और देश को लगातार निजी हाथों में बेचने की ओर अग्रसर है। देश के बड़े सार्वजनिक प्रतिष्ठान लगातार देश के पूंजीपतियों के हवाले किये जा रहे, जिससे सरकारी क्षेत्र में दिनों दिन रोजगार खत्म होता जा रहा है। सीपीआईएम ने कहा कि एक ओर जहां पूंजीपतियों के आमजन की जमा पूंजी पर दिए गण माफ किए जा रहे है वहीं आमजन को उनके जमापूंजी की सुरक्षा तक की गारंटी नही ली जा रही है। देश मे मुनाफा कमाने वाली पेट्रोलियम कंपनियों व सार्वजनिक सम्पतियों को बेचा जा रहा है। सीपीआईएम ने कहा कि देश की सुरक्षा उपकरण बनाने वाली एचएएल कंगाली के दौर से गुजर रही है कर्मचारियों को देने के लिए पैसे तक नही है और दूसरी तरफ सुरक्षा उपकरण बनाने की जिम्मेवारी निजी क्षेत्र में दी रही है। जो देश के हित मे सही नही है। सीपीआईएम लगातार बढ़ रही महंगाई पर तुरंत रोक लगाने, देश मे मंदी के कारण बन्द होने वाले उद्योगों से बेरोजगार हो रहे लोगों को मुआवजा, न्यूनतम वेतन को 21000 करने, वृद्धा पेंशन को न्यूनतम 3000 रुपये करने, पूंजीवादियों को वितीय मदद बन्द करने, देश मे सार्वजनिक संस्थानों को बेचना बंद करने तथा मनरेगा में ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध करवाने की मांग को प्रमुखता से उठाया है। सीपीआईएम ने जल्द से जल्द अपनी सभी मांगांे को पूरा करने की आवाज उठाई है।

You might also like