रविवार को नौ घंटे मरम्मत सोमवार को फिर बत्ती गुल

मेंटेंनेस के बाद भी त्योहारी सीजन में बिजली गुल होने से रोष

हमीरपुर –रविवार को नौ घंटे की मरम्मत के बाद सोमवार को हमीरपुर शहर की बत्ती गुल हो गई। चंद घंटों में ही बिजली बोर्ड के मरम्मत कार्य की पोल खुल गई। नौ घंटे तक किया गया मरम्मत कार्य, नौ घंटे तक भी सही ढंग से नहीं टिक सका। सोमवार दोपहर को करीब दो घंटे तक बाजार की दुकानों में अंधेरा पसरा रहा। बिजली लाइन की मरम्मत कार्य के बाद भी हमीरपुर शहर रोशन नहीं हो पा रहा। त्योहारी सीजन में बिजली गुल होना शहरवासियों को रास नहीं आ रहा। त्योहारी सीजन दुकानदारों के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण रहता है। गिफ्ट सेंटर से लेकर लगभग सभी प्रकार की दुकानों का करोबार बिजली न होने के कारण प्रभावित हो रहा है। सोमवार को भी लगभग दो घंटे तक बिजली आपूर्ति पूरी तरह ठप हो गई। बिजली बोर्ड के कर्मचारी फाल्ट को ढूंढते रहे। फाल्ट मिलने के उपरांत विद्युत आपूर्ति बहाल हो पाई। हालांकि शहर के लोग बिजली बोर्ड की कार्यशैली को कोसते रहे। लोगों का कहना था कि पिछले ही दिन नौ घंटे बिजली बोर्ड के कर्मचारियों ने बिजली लाइनों की मरम्मत की है। सुबह नौ से शाम छह बजे तक हमीरपुर शहर की बत्ती गुल रही। नौ घंटे मरम्मत के बाद भी सोमवार दोपहर अचानक बिजली गायब हो गई। एक तरफ जहां लोगों की भारी भीड़ थी, वहीं बत्ती गुल हो जाने से दुकानदारों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। बता दें कि विद्युत विभाग विभाग समायानुसार बिजली उपकरणों का मरम्मत कार्य करता रहता है। इसके लिए बोर्ड पहले बाकायदा  सूचित कर देता है। इस बार लोगों को लगातार दो दिन बिजली कट के कारण परेशानी झेलनी पड़ी।

दो दिन से अंधेरे में प्रतापनगर

शहर के साथ प्रतापनगर में दो दिन से अंधेरा पसरा हुआ है। यहां बिजली लाइनों पर एक पेड़ आकर गिर गया। पेड़ गिरने से बिजली के पोल उखड़ गए हैं तथा लाइनें टूट चुकी हैं। आलम यह है कि बिजली न होने के कारण लोगों के मूलभूत दिनचर्या के कार्य प्रभावित हुए हैं। अकसर लोग यहां किराए के मकानों में रह रहे हैं, इन्हें यहां अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। स्कूल जाने वाले बच्चों की पढ़ाई भी बिजली न होने के कारण प्रभावित हुई है। हालांकि विद्युत बोर्ड मरम्मत कार्य में जुटा हुआ है।

 

You might also like