राष्ट्रीय सेवा योजना में भी नवाचार की संभावनाएं

प्रदेश विश्वविद्यालय स्तर की राष्ट्रीय सेवा योजना परामर्शदात्री समिति की बैठक में बोले कुलपति सिकंदर कुमार

शिमला –हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति आचार्य सिकंदर कुमार ने कहा है कि राष्ट्रीय सेवा योजना में भी कई नवाचारों की संभावनाएं उपलब्ध हैं, वह मंगलवार को हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय स्तर की राष्ट्रीय सेवा योजना परामर्शदात्री की समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। कुलपति ने कहा कि एनएसएस के मूल कार्यक्रमों के अतिरिक्त नई गतिविधियां की जानी चाहिएं, लेकिन विशेष ध्यान विषय विशेषज्ञ का भी उस गतिविधि में उपस्थित रहना आवश्यक होता है, क्योंकि पौधारोपण की कार्य में वन विभाग, रक्त शिविर के दौरान चिकित्सा विभाग तथा नशा निवारण के दौरान चिकित्सा एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों का उपस्थित रहना सार्थक परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने राष्ट्रपति द्वारा 2017-18 के लिए राजकीय महाविद्यालय सीमा के एक छात्र व अध्यापक को विशेष पुरस्कार ग्रहण करने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि भविष्य में और अधिक छात्र/छात्रों को इस कार्यक्त्रम में शामिल करने के लिए और अधिक कर्मठ प्रयास करने चाहिएं। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव घनश्याम चंद, अधिष्ठाता छात्र कल्याण आचार्य कमलजीत सिंह, राज्य राष्ट्रीय सेवा योजना अधिकारी डा. एचएल शर्मा, विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्य एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के अधिकारी, एड्स कंट्रोल सोसायटी के विशेषाधिकारी डाक्टर  ठाकुर, नेहरू युवा केंद्र के सहायक निदेशक श्री विजय कुमार के अतिरिक्त विष्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के अधिकारी डा. बीआर ठाकुर, अधीक्षक मोती लाल भी उपस्थित रहे।

 

You might also like