सॉफ्टवेयर देगा एग्जाम के ग्रेड

करियर प्वाइंट के दो छात्रों ने किया तैयार, रिजल्ट बनाने में रहेगी आसानी

भोरंज –उपमंडल भोरंज  में स्थापित करियर प्वाइंट यूनिवर्सिटी के कम्प्यूटर साइंस इजीनियरिंग विभाग में एमसीए तृतीय सेमेस्टर में पढ़ रहे छात्र अनिल कुमार व अमन ठाकुर ने  अपने हुनर से ग्रेड फाइंडर व फेक्टर फाइंडर सॉफ्टवेयर बनाया है। यह सॉफ्टवेयर उन्होंने डिजिटल स्किल सेंटर की देखरेख में बनाया है। इस सॉफ्टवेयर के जरिए अब छात्रों को परीक्षा के ग्रेड देने का कार्य सरल तथा कम्प्यूटरराइज हो जाएगा। इस सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए अनिल व अमन ठाकुर ने जावा स्क्रिप्ट का इस्तेमाल किया है। विभाग की अध्यक्ष प्रतिभा शर्मा ने बताया कि इस तरह के सॉफ्टवेयर बनाने के लिए जावा स्क्रिप्ट का इस्तेमाल करने का उदेश्य सॉफ्टवेयर को सिक्योरिटी प्रदान करना है। यह सॉफ्टवेयर सभी आपरेटिंग सिस्टम पर काम करेगा। इस प्रोजेक्ट के अलावा तीन अन्य प्रोजेक्टों पर विद्यार्थी कार्य कर रहे हैं, जो कि सीपीयू नेविगेशन रिजल्ट फाइंडर और डिजिटल मार्केटिंग पर आधारित हैं, जिनकी दिसंबर तक पूरा होने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2012 से करियर प्वाइंट विश्वविद्यालय अनुसंधान पर विभिन्न फील्ड में कार्य कर रहा है, जिसमें विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। सॉफ्टवेयर के माध्यम से अब रिजल्ट और भी जल्दी निकलेगा और बिलकुल एक्यूरेट होगा। इसके साथ साथ छात्र और भी ऐसे सॉफ्टवेयर बनाने में लगे हैं, जिसमें हिमाचल की वनस्पति प्लांट को मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से हिमाचल में उगने वाली जड़ी बूटियों की जानकारी उपलब्ध करवाई जाएंगी। इस सारे अभियान में बोटनी विभाग व कम्प्यूटर साइंस के स्कॉलर लगे हुए हैं। इसके अलावा सीपीयू नेविगेशन, एग्जाम रिजल्ट शीट, डिजिटल मार्केटिंग, कंटेंट मैनेजमेंट, सोशल मीडिया के अन्य सॉफ्टवेयर पर भी काम चल रहा है, जो दिसंबर माह तक पूरा कर लिया जाएगा।

 

 

You might also like