1204 किलो मादक पदार्थ जब्त

पंचकूला – हरियाणा पुलिस द्वारा चुनाव से पहले मादक पदार्थ तस्करों व अन्य अपराधियों को काबू करने के लिए बनाई गई रणनीतियां कारगर रही हैं। पुलिस ने राज्य भर में एक महीने चले एक विशेष एंटी-ड्रग अभियान के तहत 386 मामले दर्ज कर 483 लोगों को गिरफ्तार किया। इस दौरान 1204 किलोग्राम से अधिक मादक पदार्थ भी जब्त किया गया है। पुलिस महानिदेशक, मनोज यादव ने यह जानकारी देते हुए बताया कि विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले मादक पदार्थों की आपूर्ति के नेटवर्क का तोड़ने व इसमें संलिप्त नशा कारोबारियों को काबू करने के लिए पुलिस द्वारा 20 अगस्त से 20 सितंबर, 2019 तक एक विशेष अभियान चलाया गया था। इस अवधि के दौरान, सभी पुलिस आयुक्तों और जिला पुलिस अधीक्षकों को अपने-अपने क्षेत्रों में मादक पदार्थ की तस्करी व इसके वितरण नेटवर्क को पूरी तरह से कुचलने के लिए निर्देश दिए गए थे। डीजीपी ने कहा कि इस दौरान पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से 559 किलो 719 ग्राम गांजा, एक किलो 826 ग्राम से अधिक हेरोइन, 630 किलोग्राम 618 ग्राम चूरा पोस्त, पांच किलो 648 ग्राम अफीम, तीन किलो 531 ग्राम चरस, दो किलो 710 ग्राम से अधिक स्मैक और 458 ग्राम 750 मिलिग्राम सुल्फा जब्त किया गया है। इसके अतिरिक्त, पुलिस टीमों द्वारा 1,43,483 टैबलेट, 196 बोतल सिरप, 15,469 कैप्सूल और 827 इंजेक्शन सहित प्रतिबंधित दवाएं भी जब्त की गई हैं। दर्ज मामलों का विवरण देते हुए, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि इस अभियान के तहत जिला सिरसा में एनडीपीएस अधिनियम के तहत सर्वाधिक 129 मामले दर्ज कर 178 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद, जिला फतेहाबाद में 85 आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ 60 मामले दर्ज किए गए। इसी प्रकार अंबाला और पानीपत में 23-23, गुरुग्राम में 20, रोहतक में 18, कुरुक्षेत्र में 16, करनाल में 13 और यमुनानगर में 10 मामले दर्ज कर भारी मात्रा हेरोइन, चुरा पोस्त, गांजा और अफीम आदि बरामद की गई। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान के दौरान, सभी जिलों में दैनिक आधार पर नियमित छापे मारे गए। नशे के कारोबारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के अलावा, पुलिस ने आम लोगों को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में भी जागरूक किया।

You might also like