19 साल में सबसे कम मतदान

हरियाणा चुनाव

राज्य में 63.52 फीसदी मतदाताओं ने पोलिंग बूथ पर पहुंचकर किया वोट

पंचकूला – हरियाणा में 19 साल में सबसे कम मतदान, जानें पिछले चुनावों में कितना वोट पड़ा है। लोकतंत्र के महापर्व में प्रदेश की 90 सीटों पर अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए शाम पांच बजे तक 53.78 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। हालांकि शाम पांच बजे के बाद मतदान ने थोड़ी रफ्तार पकड़ी और शाम तक मतदान का आंकड़ा 62.28 फीसदी मतदाताओं ने पोलिंग बूथ पर पहुंचकर मतदान किया। सुबह से ही मतदान की रफ्तार सुस्त रही। लोगों में वह उत्साह नजर नहीं आया, जो पिछले चुनावों में नजर आता रहा है। मतदान समाप्त होने में अब कुछ ही समय शेष है, लेकिन मदान की धीमी रफ्तार देख कर साफ है कि मतदान के आंकड़े 21वीं सदी में सबसे कम रहेंगे। हरियाणा के चुनाव में वोटरों के घर से न निकलने के पीछे एक्सपर्ट सरकार से निराशा को प्रमुख वजह बता रहे हैं।

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पड़े वोट

हरियाणा पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने कहा कि राज्य विधानसभा की सभी 90 सीटों के लिए मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ। संबंधित एसपीए डीएसपी और एसएचओ द्वारा मतदान प्रक्रिया को बाधित करने के सभी प्रयासों को प्रभावी कार्रवाई व राज्य भर में सुबह से ही की जा रही गश्त के चलते निष्क्रिय किया गया।

2014 में हुआ था 76.6 फीसदी मतदान

सन 2014 के चुनाव में भी 2009 के 72.3 के मुकाबले 4.3 फीसदी इजाफे के साथ कुल 76.6 फीसदी मतदान हुआ था। भाजपा ने 33.3 फीसदी वोट के साथ 47 सीटें जीतीं थीं। तब की सत्ताधारी कांग्रेस 20ण्7 फीसदी वोट शेयर के साथ महज 15 सीट पर सिमट गई थी। इंडियन नेशनल लोकदल भाजपा के बाद दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी। इनेलो 24.2 फीसदी वोट के साथ 19 सीटें जीतने में सफल रही थी। 10.6 फीसदी वोट के साथ निर्दलियों ने पांच सीटें जीतीं।

You might also like