अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनने से निखरेगा पर्यटन

इंटिग्रेटेड इंटरास्टेट टूरिस्ट सेक्टर करना होगा विकसित; टूरिज्म एक्सपर्ट प्रो. एसपी बंसल ने मीट में शेयर किए विचार

धर्मशाला –देवभूमि हिमाचल प्रदेश में पर्यटन उद्योग में काफी अधिक संभावनाओं को देखते हुए अधिक निवेश की बात कही जा रही है। वहीं, इन्वेस्टर मीट में टूरिज्म एक्सपर्ट प्रो. एसपी बंसल ने ‘दिव्य हिमाचल’ के साथ खास बातचीत भी की। प्रो. एसपी बंसल मौजूदा समय में तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर के कुलपति के रूप में सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। साथ ही शार्क देशों के टूरिज्म के अध्यक्ष, इंडियन टूरिज्म हास्पिटेलिटी कांग्रेस के अध्यक्ष और भारत सरकार के मंत्रालय में भी पर्यटन कार्य को लेकर बोर्ड ऑफ मेंबर में शामिल है। उन्होंने ‘दिव्य हिमाचल’ से बातचीत करते हुए बताया कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन हिमाचल में होना एक अनूठी पहल है। मात्र दो साल के छोटे कार्यकाल में इतने बड़े आयोजन को धरातल पर उतारना बड़ी बात है, साथ ही इसे सही तरीके से लागू करने की भी चेतावनी सरकार के समक्ष रहेगी। उन्होंने कहा कि पर्यटन कारोबार में प्रदेश में अपार संभावनाएं हैं और इससे इकोनॉमी को लेकर भी बहुत अधिक प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनने से पांच सितारा होटल, मीटिंग इंटेसेंव कनवेशन एग्जिवेशन, सांस्कृतिक और हेरिटेज व एंडवेंचर टूरिज्म के अधिक स्कोप बढ़ेंगे। पर्यटकों को हिमाचल में अधिक समय तक रोकने के लिए इंटर स्टेट व इंटरास्टेट टूरिज्म सर्किट डिवेलप करने होंगे, जिससे दिल्ली-आगरा-यूपी की तर्ज पर अधिक समय तक पर्यटक रुक सकेंगे। उन्होंने कहा कि हैली टैक्सी, कनेक्टिविटी, सांस्कृतिक और मंनोरजनात्मक गतिविधियां भी बढ़ाई जाएंगी। साथ ही ग्रामीण पर्यटन को विकसित करने, होम स्टेट प्रोमोट करने और हैंडीक्राफ्ट पर भी फोक्स करना होगा। उन्होंने कहा कि निवेशकों के आने से हिमाचल का पर्यटन उद्योग दस वर्ष आगे चला जाएगा।  

You might also like