आंखों का यूं रखें ख्‍याल

मौजूदा समय में कम्प्यूटर के बिना काम करना शायद असंभव है, लोग घंटों कम्प्यूटर के सामने बैठकर काम करते हैं। घंटों कम्प्यूटर के सामने बैठने के कारण इससे निकलने वाली नीली रोशनी से सबसे अधिक नुकसान आंखों को होता है। इसके कारण आंखों की रोशनी कम होती है। इसके अलावा लगातार कम्प्यूटर पर काम करने से आंखों में थकान, धुंधला दिखाई देना, सिर में दर्द और आंखों के आसपास काले घेरे की समस्या आम बात है। इसलिए काम के साथ-साथ आंखों का भी ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

अंधेरे में काम न करें- कम्प्यूटर पर काम कर रहे हैं, तो ध्यान रखें कि जिस कमरे में आप हों वहां पर अंधेरा या कम रोशनी न हो। आपके कमरे की रोशनी कम्प्यूटर स्क्रीन से निकलने वाली रोशनी से कम न हो। अगर कमरे में अंधेरा होगा, तो कम्प्यूटर से निकलने वाली किरणें आंखों को अधिक प्रभावित करेंगी।

कम्प्यूटर से आंखों की दूरी – काम करते वक्त अपनी कुर्सी की ऊंचाई को कम्प्यूटर के हिसाब से ही रखें। कम्प्यूटर को अपनी आंखों से 30 सेमी की दूरी पर रखें।

पलकों को झपकाते रहें- काम के दौरान पलकों को झपकाते रहें, इससे आंखों की नमी बरकरार रहेगी और आंखों सूखेंगी नहीं।

काम के बीच ब्रेक लें- अगर आप लगातार कम्प्यूटर पर काम कर रहे हैं, तो बीच-बीच में ब्रेक लेते रहें। कोशिश करें कि 30-40 मिनट के बाद अपनी नजर को दूर किसी वस्तु पर ले जाएं, अपने से लगभग 20 फुट की दूरी पर दूसरी वस्तु को देखें।

हेल्दी स्नैक लेते रहें- आंखों को स्वस्थ रखने के लिए स्वस्थ आहार का सेवन बहुत जरूरी है। खाने में विटामिन ए, ई और सी को जरूर शामिल करें। ये आंखों के लिए आवश्यक हैं। दूध और दूध से बने पदार्थ, हरी पत्तेदार सब्जियां, अंडा, पपीता, गाजर विटामिन ए के अच्छे स्रोत हैं, इनको अपने आहार में शामिल करें।

आंखों के व्यायाम- काम के बीच में आंखों को थकान से बचाने के लिए आंखों के व्यायाम कीजिए। अपनी हथेली और अंगुली से आंखों को बंद करके उन पर मालिश करें। बीच-बीच में आंखों की पुतलियों को चारों ओर घुमाएं। इससे आंखों को आराम मिलता है।

You might also like