आईआईटी मंडी के देवदेवन को इन्फोसिस साइंस फाउंडेशन अवार्ड

गोल्ड मेडल के साथ मिलेंगे एक लाख अमरीकी डालर

मंडी – आईआईटी मंडी के असिस्टेंट प्रोफसर मनु वी देवदेवन को इस वर्ष का इन्फोसिस साइंस फाउंडेशन पुरस्कार मिलेगा। इन्फोसिस साइंस फाउंडेशन आईएसएफ  ने छह श्रेणियों में अपने प्रतिष्ठित पुरस्कार की घोषणा कर दी है, जिसमें से एक पुरस्कार इस बार आईआईटी मंडी के भी हिस्से में आया है। आईआईटी मंडी में स्कूल आफ  ह्यूमैनिटीज एंड सोशल साइंसेस के असिस्टेंट प्रोफसर मनु वी देवदेवन को प्री मॉडर्न साउथ इंडिया पर उनके मौलिक और व्यापक काम के लिए इन्फोसिस पुरस्कार-2019 के लिए चुना गया है। पुरस्कार के रूप में उन्हें गोल्ड मेडल, प्रशस्ति पत्र और एक लाख अमरीकी डालर मिलेंगे। उन्होंने दक्कन और दक्षिण भारत के सांस्कृतिक, धार्मिक और सामाजिक इतिहास के बारे में पारंपरिक ज्ञान की महत्त्वपूर्ण पुनर्व्याख्या की है। प्रो. देवदेवन के प्रारंभिक अनुसंधान में पूर्व-आधुनिक दक्षिण भारत में राजनीतिक एवं आर्थिक प्रक्रियाएं, दक्षिण भारत में साहित्यिक गतिविधियां और इलाके के प्राचीन शिलालेखों का अध्ययन शामिल है। जाने-माने विद्वानों और प्रोफेसर्स वाली प्रतिष्ठित ज्यूरी के एक पैनल ने 196 प्रविष्टियों में से विजेताओं को शॉर्टलिस्ट किया। इन्फोसिस लिमिटेड के सह संस्थापक एवं इन्फोसिस साइंस फाउंडेशन के अध्यक्ष एसडी शिबुलाल ने कहा कि इन्फ ोसिस पुरस्कार वैज्ञानिक अनुसंधान और जिज्ञासा में अनुकरणीय कार्य की पहचान को जारी रखे हुए हैं। इन्फ ोसिस पुरस्कार के कई विजेताओं ने स्वास्थ्य सेवाएं, जेनेटिक्स जलवायु विज्ञान, खगोल विज्ञान और गरीबी उन्मूलन जैसे अन्य क्षेत्रों में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है। उनके काम का मानव जाति और इस ग्रह पर तत्काल प्रभाव पड़ा है। हमें उम्मीद है कि यह सामाजिक विकास को उत्प्रेरित करेगा।

You might also like