क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू से दो और तबादले

 सरकार-विभाग को नहीं आम लोगों की परवाह, डीएचओ और एमओ की भी ट्रांसफर

कुल्लू –ट्रांसफर होने के बाद चार विशेषज्ञ डाक्टरों को रिलीव हुए क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू से मात्र तीन दिन ही हुए थे कि राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग का एक और जनता से भद्दा मजाक करने का वाकया पेश आया। यहां तैनात जिला स्वास्थ्य अधिकारी और एमओ की भी तीसरे दिन ही ट्रांसफर कर दी गई, जहां बीते शनिवार को कुल्लू अस्पताल से चार डाक्टर ट्रांसफर होकर रिलीव हो गए। वहीं, बीते सोमवार को जिला स्वास्थ्य अधिकारी और एमओ को बदला गया। लिहाजा, क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू से जिला अधिकारी और  छह डाक्टरों के तबादल कर डाले। अस्पताल में डाक्टरों की संख्या लगातार कम होने लगी है। पिछले दो दिन की ही बात करें तो अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई गई हंै, जहां पहले 800 के आसपास तक पर्चियां बनती थीं, अब घटकर 500 के आसपास रह गई है। यहां उपचार के लिए पहुंच रहे मरीजों को डाक्टर नहीं मिलने से बिना उपचार किए या घर लौटना पड़ रहा है या निजी अस्पतालों का रुख करना पड़ रहा है। मरीज उपचार के लिए बेहाल हो गए हैं। कुछ दिनों के भीतर सात तबादले कर सरकार और स्वास्थ्य विभाग ने कुल्लू की जनता ही नहीं, बल्कि मंडी, जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति, पांगी के लोगों से इस सर्दी के मौसम में उपचार के लिए परेशानी में डाल दिया है। हालांकि अस्पताल प्रबंधन यह दावे पेश कर रहा है कि अस्पताल में जहां-जहां पर तीन-तीन डाक्टर तैनात थे, कुछ डाक्टरों के तबादला होने के बाद दो-दो डाक्टर हैं,  लेकिन इन दिनों अस्पताल में देखें तो स्थिति काफी नाजुक हो गई है। मंगलवार को भी अस्पताल में डाक्टर नहीं मिलने से मरीजों को परेशान होना पड़ा। मेडिसिन ओपडी में ताला लटका हुआ है, हड्डी के मरीजों की पर्चियां नहीं बनाई जा रही हैं। क्योंकि सरकार के इस अस्पताल में आर्थो का एक डाक्टर नहीं  रहा है।  इसी माह डा. स्वाति महाजन की ट्रांसफर कर दी गई। वहीं, उसके बाद एक साथ विशेषज्ञ डा. नितेश, डा. वीरेंद्र नेगी, डा. सुशील और डा. मोहित बजाज को ट्रांसफर कर दिया। यह डाक्टर शनिवार को अस्पताल से रिलीव हो गए थे।  सोमवार को जिला स्वास्थ्य अधिकारी और एक और डाक्टर की भी यहां से ट्रांसफर कर दी गई। लिहाजा, क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू के हालत काफी नाजुक हो गए हैं। उधर, डा. सुशील चंद्र शर्मा, सीएमओ कुल्लू का कहना है कि जिला स्वास्थ्य अधिकारी के साथ एक और डाक्टर के बीते सोमवार को ट्रांसफर आर्डर हुए। इससे पहले भी कुछेक डाक्टरों की ट्रांसफर हुई है। मरीजों को परेशानी आने नहीं दी जाएगी, स्वास्थ्य विभाग पूरा प्रयास करेगा।

विधायक ने सरकार पर साधा निशाना

सदर के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने कहा कि यहां से डाक्टरों के तबादले कर कुल्लू की जनता के स्वास्थ्य के साथ सरकार ने खिलवाड़ किया है, इसे सहन नहीं किया जाएगा। हालांकि उन्होंने इस बारे स्वास्थ्य मंत्री से भी चर्चा, लेकिन इस मसले पर उचित जवाब नहीं मिला। ऐसे में अब लोगों को साथ लेकर जनता के हित्त में सरकार और स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ सड़कों पर उतर कर लड़ाई लड़ने से पीछे नहीं हटा जाएगा।

You might also like