खबर छपते ही कोटला पुल पर कोलतार

‘दिव्य हिमाचल’ ने प्रमुखता से उठाया था मुद्दा, हरकत में आया प्रशासन

कोटला – पठानकोट-मंडी नेशनल हाईवे पर कोटला में निर्मित होने वाला पुल बहुत समय से कोटला बाजार के दुकानदारों व स्थानीय लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ था। इस समस्या को लेकर ‘दिव्य हिमाचल’ ने खबर को प्रमुखता से उठाया था, जिसको लेकर प्रशासन हरकत में आ गया और पुल के दोनों ओर विभाग ने कोलतार डाल दी। गौरतलब है कि अंग्रेजों के जमाने के निर्मित पुल की जर्जर स्थिति को देखते हुए नवनिर्मित पुल पर वाहनों की आवाजाही तो सुचारू कर दी गई थी, लेकिन अभी तक पुल के दोनों तरफ की अप्रोच कच्ची होने के कारण लोगों को अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। गौरतलब है कि अभी तक पुल पर कोलतार नहीं बिछाई गई थी व जब भी कोई वाहन पुल से गुजरता था  तो धूल बाजार तक पहुंच जाती थी। धूल उड़ने के कारण दुकानों के अंदर रखा गया सामान धुलनुमा हो जाता था । हालांकि पानी के इस्तेमाल से इसे कुछ हद तक कम करने की कोशिश की जाती थी, लेकिन ऐसे इंतजाम नाकाफी व स्थायी नहीं थे। दुकानदारों सहित साथ लगते घरों के लोगों को धूल के कारण होने वाली बीमारियों के होने का खतरा बना रहता था । आखिरकार  विभाग ने पुल के दोनों तरफ कोलतार डाल दी, जिससे दुकानदारों और स्थानीय लोगों को उड़ती धूल से राहत मिली है। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर,  विधायक अर्जुन ठाकुर व ‘दिव्य हिमाचल’ का इस परेशानी से छुटकारा दिलवाने के लिए आभार व्यक्त किया है।

You might also like