छह शिक्षक नेता बाहर

एचजीटीयू ने नियमों की अवहेलना करने पर कर्मचारियों को दिखाया बाहर का रास्ता

शिमला – हिमाचल राजकीय अध्यापक संघ ने महासचिव सहित छः शिक्षक नेताओं को संगठन से बाहर का रास्ता दिखाया है। संगठन ने अनुशाशनात्मक कार्रवाई करते हुए संघ के राज्य महामंत्री नरेश महाजन सहित कांगडा, चंबा, मंडी, बिलासपुर और  हमीरपुर सहित छह जिलों के प्रधानों को संगठन से बाहर किया है। बुधवार देर शाम को राज्य कमेटी द्वारा लिए गए इस फैसले का मूलाधार शिक्षक नेताओं की 31 मार्च, 2019 को हुई आम सभा में लिए गए निर्णयों की अवहेलना व अवमानना बताया गया है। उधर, संगठन विरोधी गतिविधियों व राज्य अध्यापक संघ चुनाव कमिश्नर के आदेशों को नजरबअंदाज करने पर इन बागी शिक्षक नेताओं को कानूनी नोटिस भी स्पीड पोस्ट व ई-मेल द्वारा थमा दिया गया है। एचजीटीयू के प्रदेशाध्यक्ष विरेंद्र चौहान ने कहा कि ये शिक्षक अपने-अपने जिलों के चुनाव मनमाफिक उक्त 31 मार्च के पारित निर्णयों के अनुसार करवा लेने के बाद राज्य स्तर के नौ नवंबर को होने जा रहे शिमला में चुनावों के लिए उन्हीं नियमों ंएवं निर्णयों में मनमाफिक बदलाव की मांग कर संघ को गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे, जो कि राजकीय अध्यापक संघ के नियमों के विपरीत था व असंवैधानिक था। हिमाचल राजकीय अध्यापक संघ द्वारा की गई अब तक की यह सबसे बड़ी कार्यवाही बताई जा रही है।  चुनाव पूर्व निश्चित स्थान पर ही होंगे। इस कि सूचना शिक्षा सचिव व निदेशक उच्च व माध्यमिक को भी दे दी गई है और सरकार एवं विभाग द्वारा पर्यवेक्षक भेजने की मांग भी की गई है।

You might also like