जंगलों में सुप्रीम कोर्ट की टीम

ग्रीन फैलिंग सर्वे के तहत भराड़ी के चार जंगलों का विजिट

बिलासपुर – भराड़ी रेंज के जंगलों का निरीक्षण करने पहुंची सुप्रीम कोर्ट की टीम ने पहले दिन चार जंगलों का विजिट किया है। मुंडखर, कल्लर, तंयाबलू-1 और तंयाबलू-2 जंगल का विजिट कर टीम ने ग्रीन फैलिंग की रिपोर्ट तैयार की है। शाम को कल्लर जंगल में टीम ने अपना कार्य पूरा किया है। अब बुधवार को टीम निहारी जंगल में विजिट कर ग्रीन फैलिंग की रिपोर्ट तैयार करेगी। मुख्य अरण्यपाल बिलासपुर आरएस पटियाल ने बताया कि टीम के चेयरमैन सेवानिवृत्त पीसीसीएफ वीपी मोहन व नौणी विश्विविद्यालय के डा. भारद्वाज की टीम सोमवार शाम को बिलासपुर पंहुची थी। टीम 21 नंवबर को काम पूरा कर लौट जाएगी। चीफ कंजरवेटर ने बताया कि पूर्ण विकसित हो चुके पेड़, जिनकी वृद्धि नहीं हो पा रही है, इस तरह के पेड़ों की रिपोर्ट तैयार करने के लिए माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा यह टीम गठित की गई है। इससे पहले दो बार यह टीम विजिट कर ग्रीन फैलिंग की रिपोर्ट तैयार कर सबमिट कर चुकी है। अब तीसरी बार यह रिपोर्ट तैयार की जा रही है। अरण्यपाल ने बताया कि प्रदेश के तीन अलग-अलग हिस्सों में तैयार की जा रही रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को दी जाएगी और उनकी अनुमति के बाद उन सभी पेड़ों को काटा जाएगा, जो पूर्ण विकसित होने के बाद भी बढ़ नहीं पा रहे हैं। जहां-जहां ऐसे पेड़ कटेंगे, वहां विभाग नए पेड़ भी लगाएगा। सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित की गई यह टीम हर छह महीने में जंगलों की रिपोर्ट तैयार करने आती है। मंगलवार को किए गए इस निरीक्षण के दौरान टीम के साथ चीफ कंजरवेटर आरएस पटियाल व डीएफओ सरोज भाई पटेल सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

You might also like