ट्रहाई गांव से लापता वृद्धा का कोई सुराग नहीं

फोरेंसिक टीम ने किया मौके का मुआयना, डॉग स्क्वायड से साथ भी की छानबीन

शिमला –जिला की ग्राम पंचायत पीरन के गांव ट्रहाई की करीब 90 वर्षीय वृद्धा मेहंदी देवी के गत 15 नवंबर की रात्रि को अपने घर से लापता होने का अभी तक सुराग नहीं लग पाया है। पुलिस थाना ढली के एसएचओ राजकुमार मंगलवार को फोरेंसिक विशेषज्ञों की टीम के साथ ट्रहाई गांव पहुंचे और वृद्धा मेहंदी देवी के लापता होने बारे उनके बैडरूप व इसके आसपास से साश्य एकत्रित किए। फोरेंसिक टीम जुन्गा में सहायक निदेशक नसीब सिंह पटियाल  शामिल थे, जबकि गत तीन दिन से जुन्गा पुलिस चौकी इंचार्ज जोगिंद्र चौधरी ने पुलिस दल के साथ पूरे क्षेत्र को छान मारा। गत दिवस डॉग स्क्वायड से साथ भी काफी छानबीन की गई परंतु लापता वृद्ध महिला का कोई सुराग नहीं मिल पाया। लापता वृद्ध महिला मेहंदी के दतक पुत्र नारायण सिंह ने बताया कि हर रोज की भांति उनके द्वारा माता मेहंदी को रात्रि खाना खिलाकर सुला दिया गया और बाहर से दरवाजे में कुंडी लगा दी थी, ताकि कुत्ते इत्यादि रात को वृद्धा को तंग न करें। उन्होंने बताया कि मेंहदी साथ वाले कमरे में अकेली सोती थी। जब वह प्रातः उठे तो उन्होंने देखा कि वृद्धा की रजाई और कंबल बाहर पड़ा है और वह स्वयं कमरे में नहीं थी। उन्होंने बताया कि वृद्धा मेहंदी की ऐनक और लाठी भी कमरे में पड़ी थी। गांव के लोगों के साथ उनके द्वारा काफी तलाश करने के उपंरात जब वृद्धा नहीं मिली तब उनके द्वारा पुलिस चौकी जुन्गा में मेहंदी के लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई गई। लापता वृद्धा के भतीजे सुरेंद्र ने लापता होने बारे हैरानी प्रकट करते हुए पुलिस से गहनता से जांच करने का आग्रह किया।

You might also like