तालियों की गड़गडाहट के बीच दमदार प्रस्तुतियों ने लुभाए दर्शक

कांगड़ा –हिमाचली कला ने दमखम दिखाया, तो खास मेहमान भी मुरीद हो गए। मौका था ‘डांस हिमाचल डांस’ सीजन-7 के ग्रैंड फिनाले का। इस दौरान  खास मेहमानों ने प्रतिभागियों की तारीफ के पुल बांध दिए। दीगर है डांस का आधार शास्त्रीय नृत्य रहा है, लेकिन आधुनिक युग में डांस की कलाओं की लंबी फेहरिस्त है। आज उसी के बूते इन प्रतिभागियों ने अपना मुकाम हासिल करना है। इसलिए उन्होंने ‘दिव्य हिमाचल’ के मंच ‘डांस हिमाचल डांस’ को चुना है। कार्यक्रम के दौरान टेरेंस लुइस प्रोफेशनल डांस अकादमी के माध्यम से मंजिल को पाने की ललक हर प्रतिभागी में दिखाई दे रही थी। खैर ‘डांस हिमाचल डांस’ के मंच पर यह साबित हो गया कि हुनर पहाड़ में मौजूद है। परख हुई तो टेरेंस लुइस डांस अकादमी मुंबई के डांस कोरियोग्रॉफर एरिक ने प्रतिभागियों की खूब पीठ थपथपाई। ग्रैंड फिनाले के मौके पर बालीवुड स्टाइल प्रस्तुतियों के साथ साथ डांस में कला का भी मिश्रण प्रतिभागियों ने दिखाया। साथ ही पंजाबी गीतों पर भी खूब भंगड़े डाले गए। ऑडिटोरियम के भीतर प्रतिभागी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन दिखा रहे थे, तो बाहर प्रतिभागियों का पूर्वाभ्यास करने का दौर लगातार जारी रहा। खचाखच भरे हाल में प्रतिभागियों का हौसला बढ़ाने के लिए तालियों का सिलसिला लगातार जारी रहा।

You might also like