तीन माह में उखड़ी सवा तीन करोड़ रुपए की सड़क

सरकाघाट –सरकाघाट क्षेत्र में संपर्क सड़कों के साथ-साथ प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत किए गए निर्माण कार्यों में भारी अनियमितताएं सामने आई हैं। अधिकांश सड़कों की टायरिंग व मेटलिंग में ठेकेदारों द्वारा विभाग और सरकार को लाखों रुपए का चूना लगाया जा रहा है। ताजा मामले में हरिजन बस्ती सैंण से सूरजपुर बाड़ी में करीब तीन माह पहले तीन किलोमीटर सड़क की टायरिंग और सरफेसिंग के कार्य में जमकर गड़बड़ी हुई। अगस्त माह में ठेकेदार द्वारा बनाई गई 3.30 करोड़ रुपए की यह सड़क तीन माह के भीतर ही उखड़ गई है और भारी गड्ढे पड़ गए हैं। आरोप है कि ठेकेदार को फायदा देने के लिए बरसात से पहले टायरिंग का ठेका दिया था, ताकि बरसात का बहाना बनाया जा सके। सड़क पर वाहन चलाना तो दूर रहा लोगों का पैदल चलना भी किसी खतरे से खाली नहीं है।  ग्राम सुधार सभा सूरजपुर बाड़ी के अध्यक्ष लखविंदर सिंह गुलेरिया, रणवीर सिंह, दीपचंद, हंसराज, बलवीर सिंह, सागर सिंह, राजेंद्र कुमार, अशोक कुमार, वीरेंद्र कुमार, विजय गुलेरिया, तृप्ता देवी, मनसा देवी, माया देवी, कांता आदि ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि उन्होंने टायरिंग में बरती जा रही अनियमितताओं को लेकर एक्सिईएन पीडब्ल्यूडी सरकाघाट को शिकायत की थी। इसके बावजूद विभाग ने इस सड़क के निर्माण कार्य की गुणवत्ता की जांच नहीं की। लोगों ने विभाग से इस सड़क में बरती जा रही अनियमिता को लेकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से उच्च स्तरीय जांच की मांग  की है।

क्वालिटी मॉनिटर करेंगे जांच

सरकाघाट के एक्सिईएन पृथ्वी पाल सिंह ने कहा कि पीएमजीसी के तहत बनी हरिजन बस्ती सैंण सड़क निर्माण में भारी अनियमितताएं बरती गई हैं। इसलिए ठेकेदार की पेमेंट रोक दी गई है। इस सड़क की जांच क्वालिटी मॉनिटर द्वारा करवाई जाएगी, जहां से सड़क उखड़ी है वहां दोबारा टायरिंग ठेकेदार से करवाई जा रही है।

 

You might also like