दरिंदगी के शिकार युवक ने तोड़ा दम

संगरूर में चार लोगों ने खंभे से बांध कर बेरहमी से पीटा था दलित

चंडीगढ़-पंजाब के संगरूर में 37 वर्षीय एक दलित युवक के साथ दिल दहला देने वाली बर्बरता हुई। चार लोगों ने उसे इस कदर पीटा कि उसकी जान चली गई। जानकारी के मुताबिक संगरूर में 37 वर्षीय एक दलित व्यक्ति की शनिवार को यहां एक अस्पताल में मौत हो गई, जिसे बेरहमी से पीटा गया था और मूत्र पीने के लिए मजबूर किया गया था। संगरूर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संदीप गर्ग ने बताया कि उसने स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान में दम तोड़ दिया। उन्हें पीजीआईएमईआर में भर्ती कराया गया था। उसे बचाने के लिए डाक्टरों को उसके दोनों पैर काटने पड़े थे, मगर फिर भी उसकी जान नहीं बचाई जा सकी। गर्ग ने बताया कि इस मामले में दर्ज प्राथमिकी में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) को जोड़ा गया है। चांगलीवाला गांव के रहने वाले इस दलित व्यक्ति ने आरोप लगाया था कि उस दौरान चार लोगों ने उसे एक खंभे से बांधकर पीटा और जब उसने पानी मांगा, तो उसे पेशाब पीने के लिए मजबूर किया गया। इतना ही नहीं आरोपियों ने प्लास से युवक की टांगों का मांस भी नोच डाला था। पुलिस ने बताया कि चारों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में गिफ्तार चार आरोपी चार दिन के पुलिस रिमांड पर हैं।

 

You might also like