देवेंद्र फड़णवीस का इस्तीफा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को इस्तीफा सौंप दिया जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है।महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव परिणाम 24 अक्टूबर को आए थे। परिणाम आए एक पखवाड़े का समय बीत जाने के बावजूद गठबंधन करके चुनाव लड़ी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर सहमति नहीं बन पाई।राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद श्री फड़णवीस ने संवाददाता सम्मेलन में कहा,“ मैंने राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया और मेरा त्यागपत्र स्वीकार कर लिया गया।”महाराष्ट्र की 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को सबसे 105 सीटें मिलीं जबकि उसके साथ मिलकर चुनाव लड़ी शिवसेना ने 56 सीटें जीती हैं। शिवसेना मुख्यमंत्री पद 50..50 के फार्मूले पर चाहती थी जिस पर भाजपा सहमत नहीं हुई।श्री फडणवीस ने कहा कि शिवसेना और भाजपा के बीच ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद को लेकर उनके सामने कभी कोई निर्णय नहीं हुआ। उन्होंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से भी इस बारे में जानकारी चाही तो दोनों ने भी ऐसे किसी फार्मूले के फैसले से इन्कार किया। उन्होंने कहा कि विधानसभा नतीजों के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में विकल्प खुले होने की बात कहीं थी, इसका क्या मतलब निकाला जाना चाहिए। शिवसेना पर निशाना साधते हुए श्री फड़ण्वीस ने कहा, “ चुनाव हमारे साथ जीते, बात राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) से करते रहे।”भाजपा नेता ने कहा कि विधानसभा चुनाव में महाराष्ट्र की जनता ने हमारे काम की वजह से हम पर फिर भरोसा किया और दोबारा सेवा का मौका दिया। इस बार के चुनाव में भाजपा की सीटें पिछली बार की तुलना में कुछ कम रह गईं। पिछली विधानसभा में भाजपा के 122 विधायक थे।श्री फडणवीस ने कहा कि पांच साल के उनके मुख्यमंत्री रहने के दौरान महाराष्ट्र में बुनियादी सुविधाओं का जाल बिछाया गया। रेलवे, हवाई अड्डा और मेट्रो आदि पर काफी काम किया गया।

 

You might also like