नगर परिषद सुंदरनगर के ठप विकास पर हल्ला

सुंदरनगर – नगर परिषद सुंदरनगर में पार्षदों और अधिकारियों के बीच में ठप पड़े विकास कार्य को लेकर आपस में खूब होहल्ला हुआ। बैठक में स्ट्रीट लाइट शहर के विभिन्न हिस्सों में न लगने की सूरत में और कोई भी बिजली कर्मी न मिलने की सूरत में पार्षदों ने अधिकारियों से सवाल जवाब किए और कहा कि 150 से 200 के तकरीबन स्ट्रीट लाइटें विभिन्न जगहों पर सुंदरनगर शहर में लगनी है, लेकिन लाइट्स को लगाने के लिए पिछले दो माह से बिजली कर्मी नहीं मिल रहा है और लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बैठक में बेघरों को घर देने के लिए भी पार्षदों ने चर्चा की और कहा कि नलवाड़ खड्ड में जो साइट चिन्हित की गई है, वहां नगर परिषद की ओर से गठित की गई कमेटी अपने स्तर पर बेघरों को घर बना कर देगी। बदले में कुछ एडवांस में धनराशि भी सिक्योरिटी के रूप में ली जाएगी। उन्होंने बताया कि नगर परिषद केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बेघरों को घर बना कर देगी। बैठक में इसके अलावा साफ-सफाई व्यवस्था को लेकर भी पार्षदों ने सहमति जताई कि नगर परिषद की ओर से डोर टू डोर कूड़ा एकत्रित करने की जो मुहिम है। उसे सुदृढ़ बनाया जाए और जो इस मुहिम का हिस्सा नहीं बन रहे हैं। उनके खिलाफ चालान काट कर कार्रवाई अमल में लाई जाए। अगर फिर भी व्यवस्था में सुधार नहीं कर पा रहे हैं, तो ऐसे लोगों को नगर परिषद की ओर से मुहैया करवाई जा रही सुविधा को भी बंद करने की हामी भरी। बैठक में नगर परिषद के विभिन्न भागों में रोड की टायरिंग को लेकर छह माह पहले टेंडर किए थे, लेकिन अभी तक रोड की टायरिंग नहीं की गई है, जिसके चलते पार्षदों ने खूब तल्खी दिखाई और अधिकारियों से आग्रह किया कि नगर परिषद के विभिन्न भागों में जगह-जगह गड्ढे बने हुए है, उनका काम जल्द से जल्द शुरू कर दिया जाए। अन्यथा ठेकेदार का छेका रद्द करके दूसरे ठकेदार को काम दिया जाए। बैठक में अध्यक्ष पूनम शर्मा, उपप्रधान दीपक सेन, बुद्धि सिंह, नरेश सेन, संजय कुमार, जितेंद्र शर्मा, पुष्पा, चिंता विमल शर्मा समेत अन्य पार्षद और अधिकारी व कर्मचारी गण

मौजूद रहे।

You might also like