नशे के सौदागरों की निकाली शवयात्रा

बिलासपुर शहर में सड़कों पर उतरीं विभिन्न सामाजिक संस्थाएं, पूरे रीति-रिवाज के साथ किया अंतिम संस्कार

बिलासपुर –नशा व नशा कारोबारियों के खिलाफ विभिन्न सामाजिक संस्थाएं बुधवार को सड़कों पर उतर गईं। सामाजिक संस्था रेनबो स्टार क्लब के अध्यक्ष एवं आपरेशन मुक्ति नशा निवारण अभियान के राज्य समन्वयक ईशान अख्तर की अगवाई में लाड़ली फाउंडेशन, हिंदू-मुस्लिम राष्ट्रीय मंच तथा अर्द्धनारीश्वर सामाजिक संस्था के संयुक्त तत्त्वावधान में चिट्टा सरगना नशा माफियाओं की शवयात्रा बिलासपुर शहर में निकाली गई। चिट्टा सरगना की विशाल शवयात्रा गुरुद्वारा चौक से मेन मार्केट होते हुए सब्जी मंडी, मीट मार्केट  और वार्ड नंबर आठ से  लक्ष्मी नारायण मंदिर होते हुए बस स्टैंड पहुंची। इसके उपरांत शवयात्रा बस स्टैंड से होते हुए राष्ट्रीय उच्च मार्ग के रास्ते चंपा पार्क मेन मार्केट से गुजरते हुए टाडू चेतना चौक पर हजारों युवा और समाजसेवियों ने शवयात्रा का दहन किया। गायत्री परिवार से परिव्राजक कुलवंत सुमन तथा हिंदू-मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के प्रांत संयोजक इंजीनियर सत्यदेव शर्मा ने पूरे रीति-रिवाजों के साथ  परिक्रमा करते हुए शव का दहन किया। ईशान अख्तर ने बताया कि शवयात्रा को  लाल कपड़े में  लपेट कर घसीटते हुए हजारों  युवाओं ने चिट्टा सरगना पर कड़ा प्रहार किया। इसके उपरांत ऑपरेशन मुक्ति नशा निवारण अभियान के बैनर तले उपायुक्त कार्यालय परिसर में जनसभा का आयोजन किया गया जिसमें बतौर मुख्यातिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भागमल ठाकुर ने शिरकत की। रेनबो स्टार क्लब के संरक्षक शीला सिंह ने हिमाचली टोपी देकर मुख्यातिथि भागवत ठाकुर का स्वागत किया। मुख्यातिथि ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि युवा देश का भविष्य है, देश की उन्नति के लिए सभी युवा कटिबद्ध हो जाएं और नशे से दूर रहेंं। इस मौके पर बिजली महंत, केस पठानिया, आपरेशन मुक्ति नशा निवारण अभियान जनसभा के उपरांत उपायुक्त बिलासपुर के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत में नशीली पदार्थों पर रोक लगाने के लिए ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में मांग की गई है कि भारत की  भारत की सीमाओं पर कड़ी चौकसी बरती जाए, ताकि नजरिया अफगानिस्तान, पाकिस्तान, श्रीलंका व बांग्लादेश इत्यादि देशों ड्रग्स भारत में प्रवेश न हो तथा राष्ट्रीय स्तर पर एंटी ड्रग्ज टास्क फोर्स कमेटी का गठन किया जाए। मुनीर  अख्तर लाली, रमेश टंडन, प्रेमलाल, निर्मला राजपूत, सुशील पुंडीर, शीला सिंह, अगस्त्य शर्मा, शीतल ठाकुर, पवन कुमार शर्मा, राजेश कुमार, शालू, शिल्पा, ज्योति, आरती, आशीष शर्मा, मेजर सूबेदार ज्ञान चंद ठाकुर, प्रोफेसर अरुण कुमार, लेफ्टिनेंट आर्मी विंग जय चंद  महलवाल, वासुदेव, नीतीश, सुधा हंस, रेखा शर्मा, परवेज खान, मुन्ना रफी मोहम्मद, अरशद शेख, नंदलाल राही, प्रोफेसर नीरज वर्मा और तनुज सोनी, स्कूली संस्थानों व बुद्धिजीवियों ने भाग लिया।

You might also like