निजी कालेजों में बीएड अब  साढ़े 14 हजार रुपए महंगी

हिमाचल सरकार ने दिए फीस बढ़ाने के आदेश, आठ हजार छात्रों को झटका

शिमला – हिमाचल प्रदेश के  70 निजी कालेजों में बीएड करने वाले करीब आठ हजार छात्रों को बड़ा झटका लगा है। राज्य सरकार ने निजी कालेजों में बीएड की दो साल की फीस सीधे साढ़े चौदह हजार बढ़ाकर 98 हजार रुपए कर दी है। पिछले वर्ष यह फीस 84750 रुपए थी। मंगलवार को सरकार के आदेशों के बाद शिक्षा विभाग ने बीएड कालेजों की फीस बढ़ोतरी को लेकर अधिसूचना जारी की। वहीं एचपीयू के रजिस्टार व रेगुलेटरी कमीशन को निर्देश जारी कर कहा गया है कि निजी कालेजों को इस बारे में अवगत करवाकर बढ़ी हुई फीस को वसूलने के आदेश दिए जाएं। बता दें कि सिंतबर में बीएड कालेजों में नया बैच शुरू  हो गया है। ऐसे में निजी बीएड कालेजों में नए बैच के छात्रों से पहले ही पुरानी फीस वसूली जा चुकी है। अब दूसरी बार बढ़ी हुई फीस लेना निजी बीएड कालेजों के लिए भी आसान नहीं है। अगर निजी शिक्षण संस्थान बढ़ी हुई फीस लेते हैं, तो छात्रों का विरोध भी हो सकता है। बता दें कि दो साल के बीएड कोर्स में एक साल में छात्रों से 42 हजार फीस ली जाएगी। इसके अलावा अन्य पैसे हर माह लाइब्रेरी व कालेजों में अन्य गतिविधियों के तौर पर छात्रों से वसूले जाएंगे। गौर हो कि प्रदेश के निजी बीएड कॉलेजों में पांच से छह सालों से फीस बढ़ोतरी नहीं हुई थी। ऐसे में कई सालों से बीएड कालेज एसोसिएशन ने कोर्ट में इस बाबत केस किया था। कोर्ट ने निजी बीएड कालेजों के हक में फैसला लेते हुए इसी साल से छात्रों से बढ़ी हुई फीस वसूलने का फैसला सुनाया था व इस बाबत सरकार को भी आदेश जारी किए थे। फिलहाल अब निजी बीएड कालेज में छात्रों को ट्रेनिंग करना और महंगा पड़ेगा।

सरकारी कालेजों में 45 हजार में हो जाती है बीएड

प्रदेश के सरकारी बीएड कॉलेजों में 45 हजार में दो साल का बीएड कोर्स पूरा हो जाता है। हालांकि प्रदेश में दो ही सरकारी बीएड कालेज होने की वजह से ज्यादा छात्रों को यहां से बीएड करने का मौका नहीं मिल पाता है।

You might also like