नोटबंदी के 3 साल: ममता ने बताया आपदा तो प्रियंका ने कहा- तुगलकी फरमान

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)देश की अर्थव्यवस्था के इतिहास में आज यानी 8 नवंबर का दिन एक खास दिन के तौर पर दर्ज है. अब से तीन साल पहले यानी 2016 में 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए 500 और 1000 के नोट को बंद करने का ऐलान किया था. नोटबंदी को लेकर विपक्ष हमेशा मोदी सरकार पर हमलावर रहा है.

नोटबंदी पर धराशायी हुए सरकार के सारे दावे

अब नोटबंदी के तीन साल पूरा होने पर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी की बीमारियों का शर्तिया इलाज धराशायी हो गया है. प्रियंका गांधी ने कहा कि नोटबंदी एक आपदा थी, जिनसे हमारी अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी. इस तुगलकी कदम की जिम्मेदारी अब कौन लेगा?

ममता बनर्जी ने निशाना साधते हुए क्या कहा?

वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि फैसले से किसान, युवा और रोजगार सब प्रभावित हुए थे. मैंने पहले ही दिन कहा था कि इससे अर्थव्यवस्था और लोगों की जिंदगी बर्बाद होगी. ममता ने कहा कि आज विशेषज्ञ भी नोटबंदी के नुकसान को मान रहे हैं.

You might also like