पवार ने और बढ़ाया सस्पेंस, कहा- सोनिया से नहीं हुई सरकार पर बात

नई दिल्ली – महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कहा जा रहा था कि शरद पवार की सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद कुछ रास्ता निकलेगा, लेकिन बात बनने की बजाय उलझती दिख रही है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से 50 मिनट की मीटिंग के बाद पवार ने यह कहकर सस्पेंस और गहरा कर दिया कि हमारे बीच सरकार बनाने पर कोई ही नहीं हुई। उन्होंने कहा कि मैंने सोनिया गांधी को सिर्फ राज्य के हालात के बारे में ब्रीफिंग दी। उनके इस बयान से शिवसेना को झटका लग सकता है, जो लगातार एनसीपी और कांग्रेस के साथ सरकार गठन की बात कर रही है। शरद पवार ने मीडिया से बात करते हुए यहां तक कहा कि शिवसेना के साथ किसी तरह के कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर भी बात नहीं हुई। यही नहीं उन्होंने शिवसेना को सरकार बनाने पर भरोसा देने की बात पर भी कुछ कहने से इनकार कर दिया। उनकी बात से साफ है कि आने वाले कुछ और दिनों तक महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर माथापच्ची का दौर जारी रह सकता है। यहां तक शिवसेना नेता संजय राउत की ओर से 170 विधायकों के समर्थन को लेकर भी उन्होंने कहा कि इस बारे में उनसे ही पूछें।

शरद पवार ने यह कहकर भी बढ़ा दिया कि हम इस मसले पर अन्य सहयोगी दलों से भी बात करेंगे। पवार ने कहा कि यह खबरें थीं कि कांग्रेस और एनसीपी ही मिलकर बात करते हैं। ऐसे में हमने स्वाभिमान पक्ष के राजू शेट्टी, समाजवादी पार्टी और अन्य दलों को भी भरोसे में लेंगे। उन्होंने कहा, सोनिया गांधी को प्रदेश की ब्रीफिंग देने का काम किया। इसके अलावा किसी मुद्दे पर हमने बात नहीं की। हालांकि हम इस परिस्थिति पर ध्यान रखेंगे और दोनों पार्टियों के कुछ सीनियर लोगों की राय लेने का प्रयास करेंगे। इसके बाद आगे की राय बनाएंगे।’

You might also like