पसंदीदा विभाग मिलने पर मंत्री गदगद

कार्यभार संभालते ही आए एक्शन में, कई कल ग्रहण करेंगे कुर्सी

पंचकूला –हरियाणा में भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार मंत्रियों के कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही एक्शन मोड में आ गई है। अधिकतर मंत्रियों ने शुक्रवार को कार्यभार संभाल लिया तो कुछ के सोमवार या मंगलवार को मोर्चा संभालने की संभावना है। एक-दो मंत्रियों को अगर छोड़ दिया जाए तो इस बार सभी को उनकी पसंद और रुचि के हिसाब से मंत्रलयों का बंटवारा हुआ है। मुख्यमंत्री ने भी विभागों के बंटवारे में खासी दरियादिली दिखाई। विपक्ष इसे भले ही दबाव की राजनीति से जोड़कर पेश करेए लेकिन मुख्यमंत्री ने अपने मंत्रियों को दिल खोलकर विभाग बांटे हैं। जजपा कोटे में दुष्यंत चौटाला को आवंटित दस विभागों के बाद भाजपा जिस तरह बैकफुट पर आ गई थी, उसे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बड़े ही सधे हुए अंदाज में कवर किया है। हरियाणा के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ, जब मुख्यमंत्री ने अहम विभाग भी अपने पास नहीं रखे। गृह विभाग अमूमन मुख्यमंत्री के पास ही रहता है। पिछले साल भी गृह विभाग मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास ही था, लेकिन इस बार बागडोर सीनियर मंत्री अनिल विज को सौंपकर मुख्यमंत्री ने यह संदेश देने की कोशिश की है कि उन्हें अपने पास मंत्रलाय रखने का शौक नहीं है। सरकार को सिर्फ  रिजल्ट चाहिए। पिछली सरकार में चेंज आफ लैंड यूज (सीएलयू) की पावर मुख्यमंत्री के पास से खत्म कर मनोहर लाल पहले ही अपनी सोच को उजागर कर चुके हैं।

You might also like