पूर्णचंद मर्डर मामले का आरोपी भेजा जेल

महुआ खेड़ी हत्याकांड केस में अभी मुख्य गुनहगार तक नहीं पहुंच पाई पुलिस

नारायणगढ़  – महुआ खेड़ी गांव में पूर्णचंद मर्डर के मामले में पकडे़ गए पांचवे ंआरोपी जगपाल उर्फ बिंदू का रिमांड खत्म होने पर उसे जेल भेजा गया है। रिमांड के दौरान आरोपी ने मर्डर के बारे जानकारी दी और इनामी आरोपी मोहित मेंटल के ठिकानों पर पुलिस ने छापामारी की, लेकिन पुलिस के हाथ खाली रहे।        

यह था पूरा मामला

महुआ खेडी गांव के गुरदीप सिंह की गांव में रह रहे कुछ लोगों से रंजिश थी, जिसके चलते उसकी 2013 में चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी गई थी। इस पर पुलिस ने पांच आरोपियों रजविंद्र सिंह, मोहित मेंटल, दिनकर, सुमित, मोहित पर मामला दर्ज किया था। बता दें कि इस मामले में गुरदीप सिंह का मुख्य गवाह रंधीर सिंह था। रंधीर सिंह को आरोपियों द्वारा जान से मारने की धमकियां तक भी मिलती रहती थीं, जिसकी उसने पुलिस थाना नारायणगढ़ में कई बार शिकायत की थी। रधीर सिंह की गवाही पर पांचों आरोपियों को सजा हुई थी, लेकिन करीब एक साल बाद राजविंद्र सिंह को छोड़कर सभी आरोपियों को हाई-कोर्ट से जमानत मिल गई थी। 13 मई, 2018 में रंधीर सिंह जो अपने परिवार को राधा स्वामी सत्संग घर छोड़ कर वापस अपने गांव  जा रहा था। उसकी गांव नखडौली में सरकारी स्कूल के सामने सड़क पर एक कार में सवार आरोपियों द्वारा गोलियों से भून कर हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस ने मुख्य गवाह पूर्णचंद की शिकायत पर छह आरोपी रजविंद्र सिंह, मोहित मेंटल, दिनकर, सुमित, मोहित व रोहित पर मामला दर्ज किया था, जिसमें मोहित मेंटल फरार चल रहा था व बाकी सभी आरोपी गिरप्तार थे। रंधीर सिंह हत्या का गवाह पुर्ण चंद था। 

केस में दिखे पुलिस के हाथ कमजोर

पूर्णचंद हत्याकांड के मामले में पुलिस अभी तक मोहित मेंटल की माता, विशाल, अमन व शुभम को गिरप्तार कर चुकी है, लेकिन अभी तक वह अस्ला बरामद नहीं हुआ है, जिससे पुर्ण चंद की हत्या की गई थी। इसके अलावा पुलिस द्वारा मोहित मेंटल पर एक लाख का इनाम भी रख गया है। जो तीनो मर्डर में मुख्य आरोपी मोस्ट वांटड है।

 

You might also like