फैसले की घड़ी, आज नहीं सुलझा मामला तो शिवसेना तोड़ सकती है बीजेपी के साथ गठबंधन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औ शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फोटो-PTI)महाराष्ट्र में शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच मुख्यमंत्री पद के बंटवारे को लेकर खींचतान जारी है. सूत्रों के मुताबिक, अगर मामला जल्दी नहीं सुलझता है तो जल्द ही शिवसेना, महायुति से अलग हो सकती है. महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर शिवसेना का यह बड़ा दांव होगा.इस बीच सेना भवन पर उद्धव ठाकरे की अगुवाई में पार्टी नेताओं की अहम बैठक हो रही है. इस बैठक से पहले शिवसेना नेता गुलाबराव पाटिल ने कहा कि सीएम शिवसेना से होना चाहिए. हम उद्धव ठाकरे के आदेशों की प्रतीक्षा कर रहे हैं. जब तक हमें बताया जाएगा, तब तक होटल में रहेंगे.

राष्ट्रपति शासन की कोशिश में बीजेपी

इधर, शिवसेना ने साफ कर दिया कि बीजेपी राज्य में राष्ट्रपति शासन की कोशिश में हैं. थोड़ी देर पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि उनकी लड़ाई जारी रहेगी. हालांकि सभी शिवसेना विधायक अभी होटल में जमे हैं.

देर रात होटल पहुंचे थे आदित्य ठाकरे

शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे गुरुवार देर रात को मुंबई के रंग शारदा होटल पहुंचे थे. इस होटल में शिवसेना के विधायक ठहरे हुए हैं. विधायकों के टूटने का डर झेल रही शिवसेना ने गुरुवार को अपने विधायकों को मुंबई के रंग शारदा होटल में रहने के लिए भेजा दिया है. शिवसेना के विधायक अगले दो दिन तक और इसी होटल में रहेंगे. बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर को समाप्त हो रहा है. इसके बाद राज्यपाल को संवैधानिक पहलुओं पर विचार करना पड़ेगा.

You might also like