बर्फ के पिंजरे में सबसे ऊंचा गांव

एशिया का सबसे ऊंचा गांव हिक्कम दुनिया से कटा;भारी बर्फबारी बना कारण, स्पीति में जनजीवन अस्त-व्यस्त

केलांग – एशिया के सबसे ऊंचे गांव हिक्कम का भारी बर्फबारी के कारण दुनिया से संपर्क कट गया है। नवंबर माह के अंतिम दौर में जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति में आसमान से बरस रही सफेद आफत ने जहां लोगों की दिक्कतें बढ़ा डाली हैं, वहीं इस बार स्पीति घाटी में गत वर्ष की तुलना में अधिक हिमपात दर्ज किया है। स्पीति के अधिकतर गांवों का संपर्क मुख्यालय से कटा हुआ है, वहीं तापमान में भी भारी गिरावट दर्ज की गई है। गुरुवार को काजा में माइनस सात डिग्री तापमान दर्ज किया गया, वहीं यातायात व्यवस्था भी घाटी में ठप रह हो गई है। उधर, जिला मुख्यालय केलांग में गुरुवार को रूकरुक कर बारिश व हल्की बर्फबारी का दौर दिन भर चलता रहा। लाहुल के कोकसर में दो फुट से अधिक बर्फबारी दर्ज की गई, जबकि मियाड़ घाटी में भी भारी हिमपात दर्ज किया गया है। गुरुवार सुबह भी रोहतांग दर्रे बर्फबारी का दौर चलता रहा, जो दोपहर बाद थम गया। बात यहां मनाली के ऊपरी क्षेत्रों की करें तो यहां पर भी  गुरुवार सुबह हल्का हिमपात दर्ज किया गया है। मौसम में आए बदलाव के बाद रोहतांग दर्रे सहित लाहुल-स्पीति में हो रहे हिमपात से लोगों की दिक्कतें भी बढ़ गई हैं। कोकसर में गुरुवार को दो फीट ताजा हिमपात दर्ज किया गया है। ऐसे में यहां स्थापित की गई अस्थायी बचाव चौकी में तैनात रेस्क्यू टीम को भी अलर्ट पर रखा गया है। जानकारी के अनुसार गुरुवार को भी जनजातीय जिला में जहां आसमान से सफेद आफत के बरसने का दौर रूक-रुक कर जारी रहा,वहीं तापमान में भी भरी गिरावट दर्ज की गई है। उधर, एसडीएम काजा जीवन सिंह नेगी का कहना है कि स्पीति घाटी में पिछले दो दिनों से बर्फबारी का दौर जारी है। उन्होंने बताया कि भारी बर्फबारी के कारण क्षेत्र के अधिकतर गांवों का संपर्क काजा से कट गया है,वहीं एशिया का सबसे ऊंचा गांव हिक्कम को जाने वाली सड़क भी बर्फबारी से बंद हो गई है। उन्होंने बताया कि प्रशासन ने सड़कों की बहाली का कार्य गुरुवार को शुरू कर दिया है। उल्लेखनीय है कि नवंबर माह के अंतिम दौर में मौसम में हुए बदलाव ने जनजातीय जिला के लोगों को घरों में कैद कर डाला है। हलांकि लाहुल घाटी में यातायात व्यवस्था समान्य बनी हुई है,लेकिन रोहतांग दर्रे के बंद होने के बाद लाहुल की परिस्थितियां भी बदल गई हैं। घाटी के तामपान में हुई भारी गिरावट से जहां पानी की पाइपें तक जम चुकि हैं, वहीं रोहतांग टनल से भी लोगों की आवाजाही बीआरओ ने बंद कर डाली है। ऐसे में लाहुल के लोग अब प्रदेश सरकार से हवाई सेवाओं को जल्द से जल्द शुरू करने का आग्रह कर रहे हैं। बरहाल भारी बर्फबारी के कारण एशिया के सबसे ऊंचे गांव हिक्कम का संपर्क दुनिया से कट गया है।

You might also like