बाल दिवस पर भिड़े पार्षद

नगर निगम मीटिंग में बच्चों की प्रतियोगिताएं न करवाने को लेकर कांग्रेस और भाजपा में हंगामा

चंडीगढ़ – बाल दिवस को लेकर कांग्रेस और भाजपा के पार्षद सदन में भिड़ गए। निगम ऑफिस में बैठक के दौरान कांग्रेस पार्षद गुरबख्श रावत ने कहा कि 2016 से पहले बाल दिवस पर बच्चों की प्रतियोगिताएं नगर निगम की ओर से करवाई जाती थीं, लेकिन इस बार सत्ता पक्ष भाजपा ने इसका आयोजन नहीं किया है। सदन में रावत ने कहा कि चंडीगढ़ की संरचना में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का अहम योगदान है। बेशक पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन न मनाया जाता, लेकिन बाल दिवस तो मनाया जा सकता था। भाजपा पार्षद पूर्व मेयर अरुण सूद ने कहा कि महापुरुषों का सम्मान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी और सरदार पटेल का जो सम्मान वर्तमान सरकार ने किया है ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। इसके बाद कमिश्नर केके यादव ने कहा कि बाल दिवस होने के कारण सदन में केक काटा जाएगा। भाजपा पार्षद विनोद अग्रवाल ने सदन में एक भ्रष्टाचार का मामला उजागर किया। अग्रवाल ने कहा कि एक नर्सरी वाले से अतिरिक्त कमिश्नर के नाम पर गमले मांगे गए। जब उसने गमले देने से मना किया तो उसका चालान अतिक्रमण हटाओ दस्ते ने कर दिया। इस मामले पर कमिश्नर ने कहा कि इसकी लिखित में शिकायत दे दी जाए। गहनता से जांच करवाई जाएगी।

 

You might also like