महाराष्ट्र में फिर माथापच्ची

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने सरकार के लिए तय किया न्यूनतम साझा कार्यक्रम

मुंबई – बीते कई दिनों से महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर माथापच्ची में जुटीं शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी में आखिरकार सहमति बनती दिख रही है। तीनों ही पार्टियों ने गुरुवार को सरकार के लिए न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर को लेकर मुंबई में चर्चा की। इस मीटिंग को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में विपक्ष के नेता रहे विजय वडेट्टीवार ने बताया कि बैठक में तीनों पार्टियों के नेताओं ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम का मसौदा तैयार कर लिया है। खबर है कि अब इस मसौदे को सोनिया गांधी, शरद पवार और उद्धव ठाकरे के पास भेजा गया है। वडेट्टीवार ने कहा कि उनकी नेता सोनिया गांधी की मंजूरी मिलते ही राज्य में शिवसेना के नेतृत्व में एनसीपी और कांग्रेस साझा सरकार का हिस्सा होंगे। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र को स्थिर सरकार देने के लिए शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस इन तीनों पार्टियों के राज्यस्तरीय नेताओं की न्यूनतम साझा कार्यक्रम तय करने के लिए यह पहली ही बैठक थी। बैठक में शिवसेना की तरफ से पार्टी के वरिष्ठ नेता सुभाष देसाई और एकनाथ शिंदे, एनसीपी की तरफ से प्रदेशाध्यक्ष जयंत पाटील के अलावा छगन भुजबल और नवाब मलिक तथा कांग्रेस की तरफ से पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, विजय वडेट्टीवार और माणिकराव देशमुख शामिल थे।

कल सोनिया से मिल सकते है शरद पवार

एनसीपी सूत्रों का कहना है कि पार्टी चीफ शरद पवार 16 नवंबर को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि 17 से 20 नवंबर के बीच महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन का ऐलान हो सकता है।

You might also like