मौत के बाद आश्रितों को दो-दो लाख

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा होने पर राख में हिमाचल ग्रामीण बैंक ने उपलब्ध करवाई राशि

मैहला-केंद्र सरकार की महत्त्वाकांक्षी योजना के तहत मंगलवार को हिमाचल ग्रामीण बैंक की शाखा राख में तीन खाताधारक मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपए की राशि के चेक बांटे गए। इस मौके पर शाखा प्रबंधक महेंद्र कुमार दत्ता ने बताया कि उनकी शाखा के खाता धारक पहाड़ सिंह गांव उखडेली की इसी वर्ष छह अगस्त को ढांक से गिरने के कारण मृत्यु हो गई थी। इसके अलावा ग्राम पंचायत डुलाडा के दो व्यक्तियों उत्तम तथा प्यार सिंह की आठ अगस्त 2017 तथा 10 जून 2019 को भिन्न-भिन्न दुर्घटनाओं के चलते मृत्यु हो गई थी। ये तीनों मृतक इसी शाखा में प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत पंजीकृत थे। दुर्घटनाओं में हुई मृत्यु के समाचार सुनने पर बैंक प्रबंधन ने मृतक परिवारों से सूचीबद्ध तौर पर दस्तावेज जमा करवाने की औपचारिकताएं बताईं। इन औपचारिकताओं के पूरा करने के उपरांत महज चार से पांच माह के अंतराल के भीतर मृतक परिवारों के आश्रितों के खाते में दो लाख की राशि जमा हो गई है। शाखा प्रबंधक महेंद्र कुमार दत्ता ने शाखा राख के तहत आते समस्त गांवों के खाताधारकों से अपील की है कि वे 12 रुपए की सालाना राशि के शुल्क से मिलने वाली प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना के तहत अपना अधिकाधिक पंजीकरण करवाएं। जिससे दुर्घटना के शिकार मृतकों के परिवारों को इस योजना का लाभ मिल सके।

खाता की डिटेल चैक करने के बाद चला प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का पता

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत डुलाडा के गांव ककेईल के निवासी उत्तम की अगस्त 2017 में ढांक से गिरने के कारण मृत्यु हो गई थी। लेकिन मृतक के परिवार को उनके प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना के तहत पंजीकरण की कोई जानकारी नहीं थी। इस बीच मृतक उत्तम का परिवार भी इलाके से कहीं बाहर रोजी रोटी की तलाश में चला गया था। करीबन दो वर्ष के बाद मृतक उत्तम की पत्नी कमला देवी कुछ पैसों की जरूरत पड़ने पर अपने पति का खाता बंद करवाने के लिए बैंक गई तो सह शाखा प्रबंधक पंकज परीक ने खाता डिटेल चेक करने पर पाया कि मृतक की मृत्यु के उपरांत भी उनके खाते से 12 रुपए प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत बराबर कट रहे हंै। इसके बाद आश्रितों को योजना का लाभ मिल पाया है।

You might also like