सर्वोच्च फैसला

-जोगिंद्र ठाकुर, कुल्लू

अयोध्या भारत की संस्कृति और आस्था का केंद्र रहा है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के जन्मस्थान के रूप में इस स्थान को मान्यता प्राप्त रही है, लेकिन भारतीय संस्कृति व राष्ट्रीय अस्मिता को तोड़ने वाली मानसिकता के कारण सैंकड़ों वर्षों तक विवाद के चक्कर में डाला गया। भारत के जनमानस के मन मस्तिष्क से मर्यादा के प्रतीक भगवान राम को दूर करने के प्रयास किए गए। 134 वर्षों तक न्यायालय में मामला चलता रहा। राजनीतिक क्षेत्र में भी राम को खूब घसीटा गया । भला हो भारतीय न्याय प्रणाली और माननीय उच्चतम न्यायालय का, जिसने इस विवाद को समाप्त करने का ऐतिहासिक कार्य किया है। देश की सर्वोच्च अदालत ने सर्वोच्च फैसला दिया है। इस निर्णय के आने से भारतीय न्याय व्यवस्था के प्रति विश्वास बढ़ा है।

You might also like