सुप्रीमकोर्ट के फैसले पर भाजपा ने बांटी मिठाई

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने किया स्वागत

पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल बोले, एतिहासिक निर्णय

शिमला –अयोध्या में राम जन्मभूमि मामले पर सुप्रीमकोर्ट के फैसले के बाद भाजपा ने पार्टी मुख्यालय दीपकल सहित राजधानी शिमला के कई स्थानों पर मिठाईयां बांटी। लोगों को लड्डू बांट कर सुप्रीमकोर्ट के फैसले का स्वागत किया। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राम जन्मभूमि मामले पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत व अभिनन्दन किया है। शनिवार को अपने सरकारी आवास ओक ओवर में मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक फैसला है, जिसका सभी को सम्मान करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि इस फैसले को किसी को भी हार या जीत के रूप में नहीं देखना चाहिए। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से शांति, सौहार्द व एकता बनाए रखने की भी अपील की। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने  उच्चतम न्यायालय द्वारा मर्यादा पुरुषोत्तम राम की जन्म भूमि पर मंदिर बनाने का मार्ग प्रशस्त करने के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि॒इस फ़ैसले को किसी की जीत या हार की तरह नहीं देखा जाना चाहिए। ये हमारी न्याय प्रणाली की जीत है  और यह एक भारतए श्रेष्ठ भारत की जीत है। राम मंदिर निर्माण के पक्ष मे उच्चतम न्यायालय के निर्णय॒के प्रति प्रसन्न्ता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम के जीवन की भांति जन्म भूमि पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय भी मर्यादित और आदर्श है। प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के इस एतिहासिक निर्णय से॒भव्य राम मंदिर निर्माण का रास्ता पूरी तरह से साफ  हो गया है और इसी के साथ देश की जनता की देश की संविधानिक व न्यायायिक प्रक्त्रिया मे आस्था मजबूत हुयी है। य़ह निर्णय॒ देश मे एकता, अखंडता॒व साम्प्रदायिक सौहार्द को मज़बूत बनाए रखने की दिशा मे एक बहुत बड़ा कदम है। प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि॒ समस्त प्रदेशवासियों से आग्रह है कि हमारा सामाजिक सौहार्द्र बने रहना चाहिए।॒इस निर्णय से न केवल वर्षों से चले आ रहे इससे जुड़े सभी मुद्दों का समाधान हुआ है बल्कि यह निर्णय देश की शांतिए एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल भी देने वाला है।

वीरभद्र सिंह ने जताया संतोष

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने सुप्रीमकोर्ट के फैसले पर संतोष जताया है। उन्होंने कहा है कि बहुप्रतीक्षित इस फैसले के बाद हिन्दू और मुस्लिम समुदाय में आपसी प्रेम और सोहार्द ओर भी बढे़गा। वीरभद्र सिंह ने कहा कि अयोध्या राम जन्मभूमि हमारी आस्था का प्रतीक रही हैं जहां हिन्दू और मुस्लिम आपसी प्रेम भाव से रहते आए हैं। उन्होंने कहा कि अब इस पर कोई भी विवाद खत्म समझा जाना चाहिए। वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि कांग्रेस हमेशा ही इस  पक्ष में रही है कि इस मसले का समाधान आदालत के फैसले द्वारा ही हो क्योंकि भगवान राम तो वचन की मर्यादा के लिये त्याग का प्रतीक है सत्ता के भोग का नहीं। भाजपा सदा ही सत्ता सुख के लिए करोडों लोगों की आस्था से राजनीति करती आई है। राठौर ने कहा कि इस फैसले के बाद भगवान राम पर राजनीति बंद हो जाएगी।

You might also like